• Hindi News
  • National
  • नागौर और डीडवाना में सेना भर्ती के केंद्र खोले जाने के किए जाएंगे प्रयास : चौधरी

नागौर और डीडवाना में सेना भर्ती के केंद्र खोले जाने के किए जाएंगे प्रयास : चौधरी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भारतसरकार भूतपूर्व सैनिकों के परिवारों के प्रति संवेदनशील है और सरकार ने 15 लाख 90 हजार भूतपूर्व सैनिकों को 2900 करोड़ की पेंशन लागू की है, जो एक बड़ी उपलब्धि है। वन रैंक-वन पेंशन योजना शुरू कर दी है, सरकारी योजनाओं में जनसहभागिता जरूरी है और हमारा यह प्रयास है कि सेना भर्ती के लिए नागौर डीडवाना में भी इसका केंद्र खोला जाएगा। यह बात केंद्रीय राज्य मंत्री सीआर चौधरी ने बुधवार को जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कार्यालय के अंतर्गत डीडवाना की गौरव सेनानियों की एक विशाल रैली को राजकीय स्टेडियम में संबोधित करने के दौरान कही। चौधरी ने कहा कि डीडवाना क्षेत्र में भूतपूर्व सैनिकों की संख्या अधिक है और सैनिकों के हर कार्य सैनिक कल्याण अधिकारी कार्यालय में प्राथमिकता से होते है।

पूर्वसैनिकों के लिए ब्लॉक स्तर पर शिविर लगाकर किया जाएगा समाधान : अमराराम

सैनिककल्याण विभाग के मंत्री अमराराम ने अपने संबोधन में कहा कि इस क्षेत्र के लिए भूतपूर्व सैनिकों के लिए विभागीय स्तर पर जो भी सहयोग होगा मैं करने के लिए तैयार हूं। वैसे मंत्री खान के प्रयासों से डीडवाना ही नहीं नागौर जिला भी विकास की दृष्टि में प्रदेश में अग्रणी है। सेना में नौकरी की संभावनाएं बढ़ाई जाएगी। भूतपूर्व सैनिकों के समस्या के समाधान के लिए खंड स्तर पर शिविर लगाकर समाधान किया जाएगा। माटी कला बोर्ड अध्यक्ष हरीश कुमावत ने कहा कि राज्य केंद्र सरकार विकास के साथ-साथ भारतीय सैनिकों के हौसले बुलंद करने के लिए हर स्तर पर सहयोग कर रही है। साथ ही विकास की दृष्टि में राजस्थान अग्रणी है। इस मौके पर नागौर के कार्यवाहक कलेक्टर अजीत सिंह राजावत, एडीएम छगनलाल गोयल, सैनिक कल्याण विभाग निदेशक ब्रिगेडियर करण सिंह राठौड़, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी मदन सिंह जोधा, पालिकाध्यक्ष ग्यारसी देवी, एएसपी ज्ञानचंद यादव ने भी संबोधित किया। इस दौरान शहीद वीरांगनाओं को सम्मानित भी किया गया। इस दौरान विभागीय स्तर पर भूतपूर्व सैनिकों के लिए समस्या समाधान शिविर का भी आयोजन किया गया। जिसमें विभागानुसार टैंट लगाकर संबंधित अधिकारियों ने सैनिकों की समस्याओं का समाधान किया। चिकित्सकों द्वारा विभिन्न प्रकार की जांचें भी भूतपूर्व सैनिकों की की गई। रैली में मेजर दीप सिंह राठौड़, कर्नल नंदकिशोर ढाका, पालिका उपाध्यक्ष बाबू खां बेगाना, एसडीएम उत्तम सिंह शेखावत, तहसीलदार सांवरमल रैगर, डीएसपी नरसीलाल मीणा, जयसिंह राठौड़ आदि उपस्थित रहे। वहीं ब्रिगेडियर टीएस मुण्डी, बिग्रेडियर हमीर सिंह, कर्नल महेंद्र सिंह, कर्नल अमित प्रियवर्ती, कर्नल करण सिंह, कर्नल प्रताप सिंह आदि सेना के अधिकारियों ने भी इस रैली को संबोधित किया। इस दौरान पार्षद, स्थानीय विभागों के प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

डीडवाना. भूतपूर्व सैनिकों की रैली में मंचासीन अतिथि।

प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री यूनुस खान ने कहा कि पूर्व सैनिकों की पेंशन संबंधित समस्या एवं स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिल रहा है, खान ने शहीदों को नमन करते हुए कहा कि आज भारतीय सेना की बदौलत ही देश की सीमा सुरक्षित है। फौजी की कोई जाति-धर्म नहीं होता है, वे तो मातृभूमि के लिए लड़ते है। उन्होंने कहा कि सेना भर्ती के लिए डीडवाना में व्यवस्था करवाए जाने के लिए आर्थिक योगदान भी हर स्तर पर किया जाएगा। भूतपूर्व कांग्रेस सरकार ने पूर्व सैनिकों के लिए कोई बजट नहीं छोड़ा। मगर यह सरकार इनके लिए भरपूर बजट व्यय करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के भूतपूर्व सैनिकों की व्यवस्थाओं के लिए विभागीय कार्यालयों के लिए एक करोड़ तक की व्यवस्था करेगी एवं 6 करोड़ की लागत से नया कार्यालय खोलेगी। जिसमें ईसीएच, कैंटीन, ऑफिस अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाएगी। खान ने कहा कि हमारा काम केवल विकास को प्राथमिकता देना है और हम हर क्षेत्र में विकास कार्यों में आगे रहेंगे।

डीडवाना. भूतपूर्व सैनिकों की रैली में उपस्थित भूतपूर्व सैनिक।

आदर्श ग्राम पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री ने की ग्रामीणों से मुलाकात

कुचामन सिटी| केंद्रीयराज्य मंत्री सीआर चौधरी बुधवार दोपहर बाद सांसद आदर्श ग्राम चावण्डिया पहुंचे। यहां उन्होंने ग्रामीणों से मुलाकात कर आदर्श ग्राम योजना की प्रगति के बारे में चर्चा की। विकास समिति अध्यक्ष रूपसिंह ग्रामीणों ने बताया कि किसानों को बिजली की बढ़ी हुई दरों से खासी परेशानी हो रही है। चौधरी ने इस मामले में मुख्यमंत्री से बात कर समाधान निकालने का भरोसा दिलाया। इस दौरान ग्रामीणों ने वीडीपी में शेष रहे पीएचसी, बैंक, मोबाइल टावर, मुख्य सड़कें आदि कामों को जल्द पूरा कराने की मांग की। इस मौके पर उप प्रधान गोरधन मिश्रा, भाजपा ग्रामीण महामंत्री भवानीसिंह चावण्डिया, अर्जुनराम खीचड़ आदि मौजूद थे। चौधरी ने विकास समिति अध्यक्ष रूपसिंह के चाचा के निधन पर शोक जताया।

नोटबंदी पर केंद्रीय राज्य मंत्री चौधरी ने कहा कि इससे फर्जी मुद्रा चलन से बाहर हो रही है और देशहित में लिया गया निर्णय प्रधानमंत्री का साहसिक कदम है, जिसके दूरगामी परिणाम अच्छे होंगे। उन्होंने कहा कि नागौर जिले में केंद्रीय विद्यालय हो, इसके लिए भी प्रयास किए जा रहे है। इस दौरान चौधरी ने डीडवाना डीटीओ कार्यालय के पास सैनिक कल्याण कार्यालय के शहीद स्मारक लिए 10 लाख रुपए की राशि देने की भी घोषणा की।

खबरें और भी हैं...