पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • मुंह के संक्रमण की वजह से 10 दिनों में 30 से अधिक मवेशियों की मौत, 600 इक्थाइमा की चपेट में

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंह के संक्रमण की वजह से 10 दिनों में 30 से अधिक मवेशियों की मौत, 600 इक्थाइमा की चपेट में

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सोमवार को पहुंची पशुपालन विभाग की टीम ने किया सर्वे, 600 मवेशी इस संक्रमण से ग्रसित

भास्करन्यूज| बाली

बालीवेलार गांव में मवेशियों में मुंह के संक्रमण की कंटेजियस इक्थाइमा नाम की बीमारी के चपेट में आने से लगातार मौतें हो रही है। पशु चिकित्सकों की टीम ने सोमवार को गांव का सर्वे कर करीब 600 से अधिक मवेशियों को चिंहित किया। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले पंद्रह दिनों में 500 से अधिक मवेशियों की मौत हो चुकी है, जबकि सर्वे करने गई टीम का कहना है कि अब तक केवल 35 मवेशियों में ही मौत की पुष्टि हो पाई है। जानकारी के अनुसार वेलार गांव में पिछले दस-पंद्रह दिनों से लगातार मवेशियों की मौत की सूचना सामने आने के बाद सोमवार को पशु चिकित्सकों की टीम ने सीनियर पशु चिकित्सक डॉ. पुनाराम मेंशन के नेतृत्व में सर्वे किया। टीम के अधिकारियों ने बताया कि सर्वे के दौरान सामने आया कि अधिकांश मवेशी कंटेजियस इक्थाइमा यानि मुंह में छाले और फुट रोट केस पैरों में घाव के संक्रमण की चपेट में गए है। इसकी वजह से वह कुछ खा-पी नहीं सकते जिसकी वजह से उनकी मौतें हो रही है। इस दौरान टीम ने गांव में 600 मवेशियों की जांच कर उनका इलाज किया। इसके साथ ही ब्लड सैंपल लेकर उन्हें लेब में जांच के लिए भिजवा दिए गए है।

ग्रामीणबता रहे हैं 500 मौतें, विभाग कर रहा है 35 की पुष्टि : ग्रामीणसंग्राम सिंह ने बताया कि पंद्रह दिनों में 500 से अधिक मवेशियों की मौतें हो चुकी है, जबकि सर्वे करने गए सीनियर पशु चिकित्सक पुनाराम मेंशन ने बताया कि गांव में 35 मवेशियों की मौतों की पुष्टि हुई है। गांव में सर्वे करने पर मौके से 32 से अधिक मवेशियों के कंकाल मिले हैं।

जिलारोग निदान दल ने लिए सैंपल : वेलारगांव मे छोटे पशुओं की हुई मौत से गांव मे पहुंची जिला रोग निदान केंद्र के डॉ. सुरेश कुमार के नेतृत्व में बीमार मवेशियों के ब्लड सेंपल लिए है। इसके साथ ही मृत मिले मवेशियों के कंकाल के भी सैंपल एकत्रित किए है। उन्होंने बताया कि सैंपल लेकर जांच के लिए लैब में भिजवा दिए गए है, जिनकी रिपोर्ट दो दिन में आने की संभावना है।

कंटेजियस इक्थाइमा- यहएक तरह की संक्रमित बीमारी है। इस बीमारी की वजह से मवेशियों के मुंह में छाले हो जाते हैं, जिसकी वजह से उनका खाना-पीना बंद हो जाता है। जिससे उनकी मौत होने लगती है।

फुटरो केस- यहभी मवेशियों में एक तरह की संक्रमण बीमारी है। गांव के मवेशियों में यह बीमारी बारिश के पानी से पैरों में घाव होने की वजह से फैली है। यह भी इन मवेशियों की मौत की वजह हो सकती है।

बाली. वेलार गांव में टीकाकरण करते हुए कर्मचारी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें