• Hindi News
  • National
  • बेटियों के हक पर दलाल डाल रहे हैं डाका

बेटियों के हक पर दलाल डाल रहे हैं डाका

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामपंचायत कुंजेड़ में श्रमिकों से दलाल उनकी बेटियों की शादी के नाम पर सहायता दिलवाने को लेकर 12 हजार से लेकर 15 हजार तक की राशि वसूल रहे हैं।

दलाल बेटियों के माता-पिता से कहते हैं कि जिले के बड़े अधिकारियों से मिलकर आपकी बेटी के खाते में 50 हजार की राशि जमा करवा देंगे। उसमें से हमें 15 हजार की राशि देनी होगी। सथ ही इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताने को भी कहा जाता है। यह दलाल अब तक एक दर्जन से भी ज्यादा श्रमिकों को शिकार बना चुके हैं। पिछले साल भी बारां निवासी एक जने ने मजदूर यूनियन का बड़ा नेता बताकर ग्राम पंचायत क्षेत्र में मजदूरों से डायरियां बनाने के नाम पर एक श्रमिक से पांच सौ रुपए वसूले।

सरपंच प्रशांत पाटनी ने बताया कि क्षेत्र में इस तरह की शिकायत मिल रही है। पिछली बार बारां के कुछ दलालों को भगा दिया था। बेटियों के माता-पिता किसी के बहकावे में आएं। दलालों को किसी प्रकार की राशि नहीं दें। सारा काम ऑनलाइन रहा हो रहा है। कुछ लोग पैसे मांग रहे हैं तो शिकायत करें। उनके खिलाफ कानूनी रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी।

वहीं कुंजेड़ ग्राम पंचायत क्षेत्र में दलाल योजनाओं के नाम बेटियों के माता-पिताओं से राशि हड़प रहे हैं। दरअसल सरकार की ओर से रजिस्टर्ड श्रमिक जिनके पास मजदूर कार्ड हैं, उनकी बेटियों की शादी पर 50 हजार तथा शिक्षण संस्थाओं में पढ़ने वाले बच्चों को 8 से लेकर 10 हजार की छात्रवृत्ति दी जाती है। इन योजनाओं का प्रचार कर दलाल उनके अभिभावकों से मोटी राशि वसूल रहे हैं।

^कुंजेड़ग्राम पंचायत क्षेत्र में ऐसा हो रहा है तो ग्रामसेवक से कहकर मामले की जांच करवाएंगे। साथ ही बेटियों के माता-पिता इनके झांसे में आएं। नजदीकी ई-मित्र पर जाकर ही सारा काम ऑनलाइन करवाएं। -राजेंद्रशर्मा, पंचायत प्रसार अधिकारी, अटरू

खबरें और भी हैं...