पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • भारली गांव उड़ा रहा स्वच्छता अभियान की धज्जियां, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

भारली गांव उड़ा रहा स्वच्छता अभियान की धज्जियां, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
^करीब3 साल से जस के तस हालात बने हुए है। शिकायतों के बाद भी कोई सुनवाई नहीं की गई है। -अचल सिंह, ग्रामीण भारली

^गहरेगड्ढो की वजह से आए-दिन हादसे होते रहते है, फिर भी सरपंच एवं प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। -बरमासिंह, ग्रामीण भारली

बसेड़ी. गंदगी एवं सड़क निर्माण कार्य को लेकर विरोध प्रदर्शन।

भास्कर संवाददाता | बसेड़ी

एकओर सरकार शहर, कस्बा, ढाणी, एवं गली मोहल्लों को स्वच्छ बनाने की कवायद में जुटी है। तो वहीं देश के पीएम मोदी द्वारा इस अभियान को सफल बनाने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन उपखण्ड बसेड़ी के गांव भारली में स्वच्छता अभियान दम तोड़ता नजर रहा है। आलम यह है कि उपखण्ड बसेड़ी के गांव भारली में करीब 3 साल से मूल रास्ते में करीब एक किमी के दायरे में जलभराव एवं गंदगीयुक्त कीचड़ जमा होने से ग्रामवासियों का रहना दूभर हो रहा है। जिसको लेकर ग्रामीणों ने रविवार को प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की तथा विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने बताया कि मूल रास्ते में जलभराव होने से निकलने वाले राहगीरों का निकलना तक मुश्किल हो गया है। ग्रामीणों ने बताया कि मार्ग में गंदा पानी जमा होने से एवं गंदगीयुक्त कीचड़ होने से मूल रास्ता नजर ही नहीं आता जिससे गांव के लोगों को जाने के लिए दूसरा मार्ग तय करना पड़ता है। कभी-कभी बारिश के दिनों में हालात यहां तक हो जाते है कि सड़कों पर जमा पानी बारिश की वजह से इतना ओवरफ्लो हो जाता है कि घरों में घुसने लगता है। तथा साथ ही रात्रि के समय निकलने वाले राहगीरों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बुजुर्ग एवं बच्चों ने बताया कि जलभराव एवं गंदगी इतनी है कि रास्ते के दोनों तरफ पगडंडी भी नहीं है जिससे इस मार्ग से निकलने में हमेशा फिसल कर गिरने का एवं कपड़े खराब होने का भय बना रहता है। ग्रामीणों ने बताया कि मार्ग में जलभराव एवं कीचड़ जमा होने से मच्छरों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है, जिससे ग्रामीणों में मच्छरों के प्रकोप के कारण बीमारी फैलने का अंदेशा बना रहता है। ग्रामीण अचलसिंह, रामजीलाल गुर्जर, सन्तसिंह, कर्तारसिंह, बरमासिंह, गोपाली कुशवाह, धर्मसिंह, भूपसिंह, मुरारी गुर्जर, बंटी, विशाल, कदमसिंह, रम्मोसिंह, हरीवीर आदि ने विकास अधिकारी आरती गुप्ता से समस्या से निजात दिलाने एवं सड़क निर्माण की मांग की है। जिससे बारिश के मौसम में ग्रामवासियों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। तथा मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। पानी निकासी की नहीं समुचित व्यवस्था- ग्रामवासियों ने बताया कि इस मार्ग पर पानी निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होने से घरों से निकलने वाला दूषित पानी इस मार्ग पर जमा हो जाता है, जिससे गंदगीयुक्त कीचड़ एवं जलभराव की समस्या पैदा हो जाती है। एक से दो फुट के बन गए हैं गहरे गड्ढे- भारली गांव में इस मूल रास्ते में एक किलोमीटर के दायरे में जलभराव एवं गंदगी की वजह से जगह-जगह करीब एक से दो फुट के गहरे गड्ढे बन गए है। जिसकी वजह से इस मार्ग पर कई बड़ी घटनाएं होती रहती है।

खबरें और भी हैं...