पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • अवैध खनन के खिलाफ...

अवैध खनन के खिलाफ...

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अवैध खनन के खिलाफ...

इसदौरान छऊआमोड़, बसई, तिर्घरा, पहाड़पुर, महलपुर क्षेत्र में छापामार कार्रवाई की गई। तिर्घरा में अवैध खननकर्ताओं ने पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया और पथराव किया। पुलिस द्वारा खननकर्ताओं को खदेड़ने से कई बार अवैध खननकर्ताओं पुलिस में भगदड़ की स्थिति बन गई। छऊआ मोड़ के पास कार्रवाई के चलते अवैध खननकर्ता अपनी बाइकों को छोड़कर भाग गए। पुलिस ने बड़ी संख्या में बाइकों को ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में लोड कराया। पुलिस ने अवैध खनन में लिप्त आठ ट्रैक्टर, पांच ट्रॉली, तीन हाईड्रा क्रेन, एक कम्प्रेशर मशीन, एक जनरेटर, तीस बाइकों को मौके से जब्त कर 17 लोगों को गिरफ्तार किया है। जब्त मशीनों वाहनों को वन नाका बंशीपहाड़पुर को सुपुर्द कर दिया है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए लोगों से कड़ी पूछताछ की जा रही है। समाचार लिखे जाने तक रुदावल पुलिस में मामला दर्ज नहीं हुआ था। कार्रवाई करने वाली टीम में बयाना सीओ चेतराम सेवदा, भुसावर सीओ गुमनाराम, एसएचओ रुदावल रमेश तंवर, रूपवास नरेश शर्मा, बयाना हीरालाल सैनी, गढ़ीबाजना गंगासहाय, उच्चैन रामकुमार, भुसावर लखन खटाना, वैर राजेन्द्र कुमार, हलैना एसएचओ कैलाश मीणा, सीआईयू, क्यूआरटी, पुलिस लाइन जाब्ता एवं बांध बारैठा रेंजर हेमराजसिंह चौधरी शामिल थे।

बंशीपहाड़पुरकी कार्रवाई का बांध बारैठा में असर: बंशीपहाड़पुरखनन क्षेत्र में जब छापामार कार्रवाई चल रही थी तो इसकी खबर पूरे क्षेत्र में फैल गई। कार्रवाई की खबर मिलते ही बांध बारैठा क्षेत्र में खनन माफिया खानों को छोड़कर भाग गए। जिससे कुछ ही मिनटों में पूरे खनन क्षेत्र में सन्नाटा छा गया और मशीनें खामोश हो गईं।

नगरनिगम चुनाव ...

भरतपुर.पुलिसप्रशासन ने नामांकन के दौरान सुरक्षा के खास इंतजाम किए हैं। एडिशनल एसपी भवानीशंकर मीणा ने बताया कि प्रत्येक नामांकन कक्ष के बाहर एक एसएचओ स्तर का अधिकारी, पांच कांस्टेबल तथा दो महिला कांस्टेबल लगाए गए हैं। इसके अलावा ट्रेफिक प्रभारी जाप्ते के साथ कलेक्ट्रेट के मैन गेट पर तैनात रहेंगे। वाहनों के कलेक्ट्रेट में पूरी तरह रोक रहेगी।

फौजीने प|ी...

मर्गदर्ज करने की बजाय मामला संदिग्ध होने के कारण हत्या में दर्ज किया गया है। फौजी नवनीत अपने घर का इकलौता बेटा था। जिसके पिता चंद्रभान सिंह ट्रक ड्राइवर थे। उनकी 23-24 साल पूर्व यूपी में रुनकता के पास