श्रद्धा से मनाई नागपंचमी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बयाना| कस्बासहित उपखंड क्षेत्र में शुक्रवार को नाग पंचमी का पर्व परंपरागत धार्मिक श्रद्धा विश्वास के साथ मनाई गई। सुबह से ही महिलाओं ने समूहों में करील की झाडिय़ों सांप की बांबियों के पास जाकर दूध, रोटी, चने का भोग लगाकर पूजा अर्चना की। इसके बाद महिलाओं ने सामूहिक कहानी सुनी। कस्बे में इस दिन पन्ना गोपाली बगीची मंदिर, बस स्टैंड के पीछे मैदान सहित रास्तों में उगी करील की झाडिय़ों पर पूजा करने वाली महिलाओं की भीड़ लगी रही।

रुदावल.कस्बेमें नागपंचमी का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस दिन महिलाओं ने नाग देवता की पूजा कर मनोकामना पूरी होने की कामना की। इस दिन महिलाएं सुबह से ही नाग देव की गुफाओं में जाकर पूजा-अर्चना कर नागदेव की कथा सुनकर सूर्यदेव को अर्क दिया। कस्बे में महिलाएं समूह में गीत-गाते हुए राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय स्थित पूजा स्थल पर पहुंची। जहां उन्होंने नागदेव की पूजा-अर्चना कर नागदेव को दूध पिलाया। मान्यता यह है कि नागदेव ने वैश्य समाज की महिलाओं को बहिन मानकर रक्षा की थी। इसी परम्परा के अनुसार वैश्य समाज की महिलाओं द्वारा नागदेव को भाई मानकर नागपंचमी के दिन नागदेव की पूजा-अर्चना कर दूध पिलाया जाता है। इस दिन घरों में पकवान बनाए गए।

बयाना. मंदिर में नागपंचमी के अवसर पर पूजा अर्चना करती महिलाएं।

खबरें और भी हैं...