पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पांच कर्मचारियों के भरोसे पांच जिलों के टीबी मरीज

पांच कर्मचारियों के भरोसे पांच जिलों के टीबी मरीज

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ब्यावर | प्रदेशमें सबसे अधिक डिफॉल्टर और डेथ रेट में शामिल होने के बावजूद जिला क्षय रोग निवारण केंद्र प्रशासनिक अनदेखी का शिकार हो रहा है। प्रदेश के अन्य जिला क्षय रोग निवारण केंद्रो के ठीक उलट ब्यावर का डिस्ट्रिक्ट ट्यूबर क्लोसिस सेंटर पर सुविधाओं का अभाव है। एक ओर तो केंद्र सरकार अजमेर जिले में टीबी रोगियों को समय पर उपचार मुहैया करवाने के मकसद से एक्टिव केस फाउंडिंग अभियान चलाकर टीबी को जड़ से खत्म करने की कवायद कर रही है तो वहीं दूसरी और जिला क्षय रोग निवारण केंद्र महज 5 कर्मचारियों के भरोसे चल रहा है।

नाइनडोर की सुविधा ना होता एक्सरे

कुछसालों पहले तक ब्यावर के जिला क्षय रोग निवारण केंद्र में फिजियोथैरेपी विभाग के साथ ही क्षय रोगियों को भर्ती करने के लिए आइसोलेशन वार्ड और जांच के लिए टीबी क्लिनिक में ही एक्सरे की भी सुविधा मुहैया होती थी। लेकिन स्टॉफ की कमी के कारण डिस्ट्रिक्ट टीबी क्लिनिक में सभी सुविधाएं बंद हो गई। इस कारण जिले में डिफॉल्टर और डेथ का रेशियो लगातार बढ़ता जा रहा है।

खबरें और भी हैं...