• Hindi News
  • National
  • 1 लाख से अधिक मरीजों की स्क्रीनिंग

1 लाख से अधिक मरीजों की स्क्रीनिंग

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ब्यावर| चिकित्साक्षेत्रों से दूर और दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाले टीबी के संभावित रोगियों के घर तक पहुंच कर जांच करने और उन्हें चिकित्सा सुविधा मुहैया करवाने के मकसद से केंद्र सरकार के निर्देश पर शुरू हुए एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान सोमवार को संपन्न हो गया। अभियान के तहत लक्ष्य से अाधे लोगों तक ही पहुंचा जा सका। वहीं 3 हजार से अधिक लोगों के स्पूटम कलेक्ट किए गए। जांच रिपोर्ट आने के बाद अगर किसी को टीबी पॉजिटिव आती है तो उसका इलाज शुरू किया जाएगा।

मरीजों के लिए अब जिला स्तर पर गठित एक दर्जन से अधिक स्वास्थ्य टीमों ने घर घर सर्वे कर ऐसे मरीजों काे चिन्हित किया जो संदिग्ध टीबी रोग से ग्रसित है। ऐसे मरीजों के घर पहुंची टीम उनके स्पूटम(बलगम) के सेंपल लेकर उनकी जांच करवाने और समय पर उपचार मुहैया करवाने के मकसद से केंद्र सरकार के निर्देश पर डिस्ट्रिक ट्यूबर क्लोसिस क्लिनिक सेंटर द्वारा नए साल से “एक्टिव केस फाइंडिंग” योजना प्रारंभ की गई। योजना के तहत चिन्हित और पॉजिटिव आने वाले मरीजों को डॉट्स का पूरा कोर्स उपलब्ध करवाया जाएगा।। केंद्र सरकार के निर्देश पर शुरू किए गए अभियान के तहत जिले में 2 लाख 5 हजार 920 बच्चों का लक्ष्य दिया गया।

खबरें और भी हैं...