पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पिछले रबी सीजन में हुए फसल खराबे के लिए जारी होगा 40.65 करोड़ का क्लेम

पिछले रबी सीजन में हुए फसल खराबे के लिए जारी होगा 40.65 करोड़ का क्लेम

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रबी 2015-16 के लिए भादरा तहसील के लिए सबसे अधिक 26.69 करोड़ का क्लेम निर्धारित हुआ है। हनुमानगढ़ तहसील क्षेत्र में करीब 4.12 करोड़, नोहर में 4.63 करोड़, पीलीबंगा में 64.64 लाख, रावतसर में 3.69 करोड़, संगरिया में 54.16 लाख टिब्बी तहसील क्षेत्र में 31.49 लाख का क्लेम मिलेगा। भादरा क्षेत्र में भी सर्वाधिक 25.49 करोड़ रुपए का क्लेम अकेले चने की फसल के लिए मिला है। भादरा क्षेत्र में 20142 किसानों काे फसल बीमा का लाभ मिलेगा।

कृषि उपनिदेशक जयनारायण बेनीवाल ने बताया कि रबी 2015-16 के लिए फसल बीमा क्लेम किसानों के खाते में आना शुरू हो गया है। जिले में करीब 40.65 करोड़ रुपए की क्लेम राशि जारी करने की सूचना मिली है। इससे कुल 38637 किसानों को राहत मिलेगी। सबसे अधिक क्लेम भादरा क्षेत्र में चने की फसल में हुए खराबे के लिए जारी हुआ है।

किसान नेता ओम जांगू ने बताया कि रबी 2015-16 में हुए फसल खराबे को देखते हुए जारी की गई क्लेम राशि काफी कम है। रबी के दौरान बारानी क्षेत्र में चने की फसल पूरी तरह से चौपट हो गई थी और ओलावृष्टि से संगरिया, हनुमानगढ़ टिब्बी तहसील में काफी खराबा हुआ था। जिला प्रशासन ने इन क्षेत्रों में खराबे का आंकलन कर मुआवजे की अभिशंषा की थी लेकिन यह भी किसानों को नहीं दिया गया है। खेती बचाओ किसान बचाओ मोर्चा ने फसल बीमा क्लेम का मुद्दा हमेशा उठाया है और अब भी खराबे का सही आंकलन कर क्लेम जारी करने की मांग की जाएगी।

गौरतलब है कि पिछले साल रबी सीजन में बारिश ओलावृष्टि के कारण फसलों का नुकसान हुआ था। अब क्लेम मिलने से किसानों को खासी राहत मिली है। हालांकि खरीफ 2015 का नरमे में हुए खराबे का क्लेम अभी तक नहीं मिल पाया है।

भास्कर पड़ताल|नहीं मिल पाया खरीफ का पूरा क्लेम

रबी2015-16 के लिए फसल बीमा क्लेम की घोषणा हो चुकी है लेकिन खरीफ 2015 की पूरी क्लेम राशि किसानों को नहीं मिली है। खरीफ 2015 में नरमा-कपास के क्रॉप कटिंग एक्सपेरिमेंट नहीं होने के कारण खराबे का निर्धारण ही नहीं हो पाया था। इसे लेकर किसानों ने कई बार आंदोलन भी किए लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। किसान नेताओं का कहना है कि खरीफ 2015 में कपास की फसल में जबरदस्त खराबा हुआ था और क्लेम करीब 107 करोड़ रुपए बैठता है। किसान नेताओं ने रबी 2015-16 में हुए खराबे को देखते हुए 40.65 करोड़ रुपए के क्लेम को भी कम बताया है और खराबे का सही आंकलन कर क्लेम देने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...