पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • भीनमाल रानीवाड़ा में 925 हैंडपंप, 203 सूखे, 126 नाकारा

भीनमाल-रानीवाड़ा में 925 हैंडपंप, 203 सूखे, 126 नाकारा

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भीनमालरानीवाड़ा उपखंड क्षेत्र में आमजन की सुविधार्थ जलदाय विभाग की ओर से लगाए गए करोड़ों रुपए के सैकड़ों हैंडपंप नाकारा पड़े है। हालांकि विभाग की ओर से समय-समय पर मरम्मत की जाती है लेकिन अधिकतर हैंडपंप पानी नहीं होने से सूखे पड़े है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जलदाय विभाग की ओर से भीनमाल शहर में 45, ग्रामीण क्षेत्र में 47, जसवंतपुरा क्षेत्र में 455 और रानीवाड़ा उपखंड क्षेत्र में 378 सहित कुल 925 हेंडपंप खोदे थे, जिसमें से 203 हेंडपंप पानी के अभाव में सुखे पड़े है।

ये हैंडपंप वर्षा के दौरान पानी का स्तर बढने पर पुन: शुरु करने के लिए चालू रखे हैं। जबकि 126 हैंडपंप नाकारा हो चुके है, जिन्हें विभागीय कर्मचारियों की ओर से मौके से हटाया जा रहा है। सर्वे के दौरान 173 हैंडपंप मरम्मत योग्य पाए जाने पर विभागीय कर्मचारियों की ओर से इनको दुरुस्त किया जाएगा।

^पेयजल व्यवस्था को बनाए रखने के लिए जलदाय विभाग की ओर से शहर ग्रामीण क्षेत्रों में हैंडपंप की व्यवस्था की हुई है। मगर भूजल स्तर गिरने से कई हैंडपंप नकारा हो चुके हैं। विभाग की ओर से इनकी कर इनको दुरुस्त कराया जा रहा है। ओमप्रकाशबाहेती, एईएनजलदाय विभाग भीनमाल।

प्रति हैंडपंप पर एक लाख रुपए खर्च

शहरतथा ग्रामीण क्षेत्रों में पीने दैनिक कार्याे के लिए पानी उपलब्ध करवाने के लिए जलदाय विभाग की ओर से प्रति हैंडपंप खुदाई से लगाकर शुरु करने तक एक लाख रुपया खर्च किया जाता है। इस प्रकार कुल 925 हैंडपंपों पर करीब 9.25 करोड़ रुपए खर्च किए गए है।

अभी तक 170 हैंडपंप किए पुन: शुरु

जलदायविभाग के एईएन ओमप्रकाश बाहेती ने बताया कि विभाग की ओर से वर्षभर में हैंडपंपों की मरम्मत का कार्य जारी रहता है। इसी के तहत वर्तमान में मामूली खराबी वजह से बंद पड़े 170 हैंडपंपों की मरम्मत कर पुन: शुरु किया जा चुका है। इस कार्य के लिए भीनमाल रानीवाड़ा उपखंड क्षेत्र में कुल 26 हैंल्पर लगाए गए है, जिनके लिए 14 वाहन भी अलॉट किए गए हैं।

भीनमाल. चंडीनाथ कॉलोनी में नाकारा पड़ा हैंडपंप।

भीनमाल. माहेश्वरी कॉलोनी में नाकारा पड़ा हैंडपंप।