पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • हड़मतिया, नीलापानी, मोरड़िया भैरव मेले में उमड़ा सैलाब

हड़मतिया, नीलापानी, मोरड़िया भैरव मेले में उमड़ा सैलाब

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कार्तिकपूर्णिमा पर जिले के नीलापानी, हड़मतियां और मोरड़िया भैरव पर मुख्य मेले भरे। मेले में श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ पड़ा। विभिन्न मंदिरों में कार्तिक पूर्णिमा के अनुष्ठान हुए। मेलों में मेलार्थियों ने खरीदारी की।

मनोरंजन के साधनों का लुत्फ उठाया। हड़मतियां मेले में विभिन्न क्षेत्रों से आए श्रद्धालुओं ने नेजे चढ़ाए। हड़मतियामें हनुमान भक्तों का तांता : पुनाली. पालमांडव हड़मतिया मेले के मुख्य दिन हनुमान मंदिर में अल सुबह से ही दर्शनार्थियों की भारी भीड़ उमड़ी। कष्ट भंजन हनुमानजी के दर्शनों के लिए आसपास के क्षेत्र के हजारों श्रद्घालुओं ने दर्शन कर मनोकामना पूरी होने की प्रार्थना की। कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने लाई गई नेजाएं मंदिर पर चढ़ाने का क्रम अल सुबह से ही चलता रहा, कई आदिवासी युवक-युवतियों के झुंड के झुंड अपने पारंपरिक गीत गाते हुए पैदल ही नेजाएं लेकर पहुंच रहे थे।

करावाड़ा. कार्तिक पूर्णिमा पर आयोजित झौंथरीपाल के मेले में आस्था और श्रद्धा का सैलाब उमड़ा। भक्तों ने यहां पहाड़ियों की छठाओं में स्थित भैरव मंदिर, हनुमान मंदिर और माताजी मंदिर के दरबार में माथा टेककर मंदिरों पर नेजाएं चढ़ाई और मंगल कामनाओं के साथ श्रद्धा व्यक्त की। मेले में सुबह से ही रेलमपेल रही जो कि दोपहर तक रही। दर्शन के लिए मंदिरों में काफी मशक्कत करनी पड़ी।

बिछीवाड़ा. ग्राम पंचायत करौली के पादरड़ी गांव में नीलकंठ महादेव मंदिर पर भरे नीलापानी मेले के दूसरे दिन श्रद्धालुओं का ज्वार उमड़ा। श्रद्धालुओं ने मंदिर पर नेजाएं चढ़ाकर पूजा-अर्चना की और मन्नतें मानी और छोड़ी। पादरड़ी गांव में सापण और पंच देवली नदी के संगम पर बने नीलापानी स्थित नीलकंठ महादेव मंदिर पर कार्तिक पूर्णिमा के पर श्रद्धालुओं ने विविध धार्मिक अनुष्ठान किए। इसके बाद महादेव की आरती उतारी गई। मेले में आदिवासी युवतियां चौली-घाघरा और चुनरी ओढे तथा युवक सजे धजे पहुंचे। आदिवासी युवक-युवतियां एक-दूसरे के कांधों पर हाथ डाले लोक गीत गाते मस्ती में झूम रहे थे।

धनगांव और दाद धाम पर भरा मेला

दरियाटी.धनगांव में भैरवजी मंदिर और दाद धाम में गोविंद गुरु की धुणी पर भी गुरुवार को पूर्णिमा के अवसर पर मेले भरे। सुबह से यहां नेजाधारी भक्तों की भीड़ रही। श्रद्धालुओं ने देव दर्शन किए।

मेले में खूब हुई खरीदारी

मेलार्थियों ने उठाया लुत