पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए हुआ मंथन

स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए हुआ मंथन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिलानर्सिंग प्रशिक्षण केंद्र में सोमवार को जन स्वास्थ्य अभियान की ओर से गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए स्वयंसेवी संगठनों की भूमिका विषय पर एकदिवसीय कार्यशाला हुई।

कार्यशाला में सामाजिक कार्यकर्ता राजन चौधरी ने कहा कि गुणवता पुर्ण स्वास्थ्य सेवाएं देना सरकार की जिम्मेदारी हैं और लेना आमजन का अधिकार है। स्वास्थ्य सेवाओं में गत दो दशक में सुधार हुआ हैं लेकिन मातृ शिशु दर को कम करने के लिए स्वास्थ्य सेवाओं में अभी भी सुधार करने की आवश्यकता हैं। नेशनल फैमेली हेल्थ सर्वे 2015-16 के अनुसार जिले में 80.6 प्रतिशत संस्थागत प्रसव हो रहे हैं लेकिन 20 प्रतिशत प्रसव अभी भी संस्थागत नहीं होने के कारण मातृ शिशु मृत्यु दर में सुधार लाने की आवश्यकता हैं। अभियान के प्रतिनिधि खेमराज चौधरी ने कहा कि लोगों को गुणवता पूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं मिले, उनकी निगरानी स्थानीय समुदाय को करनी चाहिए। रिहाई संस्था के प्रतिनिधि भंवरलाल रूयल ने कहा कि जिले में प्रदेश के अन्य जिलों के अनुपात में अधिक ढांचागत स्वास्थ्य सेवाएं मानव संसाधन उपलब्ध हैं, फिर भी बेहतर स्वास्थ्य सेवाऐं नही मिल पा रही हैं। राजकीय नर्सिग प्रशिक्षण केंद्र प्रभारी बजरंगसिंह ने कहां कि एनएफएचस 2015-2016 के अनुसार आज भी जिले में 36 प्रतिशत से अधिक नाबालिक लडकियों की शादी कर दी जाती हैं। जो बहुत ही गंभीर विषय हैं। सारड़ संस्था के जीवराज कस्वा ने अतिथियों का स्वागत किया। अर्पण संस्था के जाफर हुंसैन ने आभार व्यक्त किया।

जन स्वास्थ्य अभियान की ओर से नर्सिंग प्रशिक्षण केंद्र में हुई एक दिवसीय कार्यशाला

खबरें और भी हैं...