पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • एसएमएस से बोझ हटेगा, 5 लाख आबादी के लिए बन रहा है 500 बेड का बड़ा अस्पताल

एसएमएस से बोझ हटेगा, 5 लाख आबादी के लिए बन रहा है 500 बेड का बड़ा अस्पताल

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थानयूनिवर्सिटी ऑफ हैल्थ साइंस (आरयूएचएस) देश की दूसरी ऐसी यूनिवर्सिटी बनेगी, जिसमें मेडिकल के साथ इंजीनियरिंग के सब्जेक्ट भी पढ़ाए जाएंगे। कुछ ऐसे कोर्स भी होंगे जिनसे स्टूडेंट मरीज और मैनेजमेंट दोनों का ही फायदा ले सकेंगे। यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस के अलावा फायनेंस, ब्रेडिंग, मैनेजमेंट और हैल्थ मैनेजमेंट जैसे कोर्स होंगे। अभी तक केवल आईआईटी, खडगपुर में ही इस तरह की व्यवस्था है।

इसका उददेश्य है कि जो भी डॉक्टर्स हों, वे मरीज, मैनजमेंट और मशीनों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी रख सकें। इसके लिए यूनिवर्सिटी में तैयारियां शुरू कर दी गई हैं और भवन बनने का काम शुरू हो गया है। यूनिवर्सिटी एक और 500 बेड का अस्पताल बनाने जा रही है, जिसका करीब 60 फीसदी काम पूरा हो चुका है और इसे वर्ष 2018 में शुरू किए जाने का लक्ष्य रखा गया है। इस अस्पताल के शुरू होने के साथ ही एसएमएस अस्पताल पर पड़ने वाला मरीजों का भार 30 फीसदी तक कम होने की संभावना है।

सांगानेर,मानसरोवर, मालवीय नगर के लोगों को मिलेगी राहत : सीतापुरा,जगतपुरा, मालवीय नगर, प्रताप नगर, शिवदासपुरा, दुर्गापुरा, सांगानेर मानसरोवर सहित टोंक रोड से लगती कॉलोनियों के पांच लाख लोगों को जयपुरिया अस्पताल 500 बेड के बनने वाले इस अस्पताल का फायदा मिलेगा। साथ ही बूंदी, टोंक, कोटा, झालावाड़ बारां बूंदी से आने वाले रैफरल मरीजों को भी यहां भर्ती किया जा सकेगा। इन सभी से एसएमएस अस्पताल पर पड़ने वाला मरीजों का भार कम हो सकेगा।

एनएएसी (नेक) की भी मिलेगी परमिशन

आरयूएचएसको यूजीसी की मान्यता मिल चुकी है और वर्ष 2017 में नेशनल एसेसमेंट एंड एक्रीडेशन कौंसिल से मान्यता लेने का लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ ही आरयूएचएस प्रदेश की पहली ऐसी ऑटोनोमस यूनिवर्सिटी बन जाएगी, जिसे यह मान्यता होगी।

^ आरयूएचएस को हाइब्रिड यूनिक यूनिवर्सिटी बनाने का लक्ष्य रखा गया है। स्टूडेंट को बायो इंजीनियरिंग, बायोटेक्नोलॉजी, हैल्थ मैनेजमेंट पब्लिक हैल्थ कोर्स कराए जाएंगे। अभी यूएबी और अलाबामा यूनिवर्सिटी ऐसे कोर्स करा रही हैं। -डॉ.राजाबाबू पंवार, वाइसचांसलर, आरयूएचएस।

खबरें और भी हैं...