पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बसपा की मायावती का सपा पर हमला यूपी में कानून नाम की कोई चीज नहीं

बसपा की मायावती का सपा पर हमला यूपी में कानून नाम की कोई चीज नहीं

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बसपाप्रमुख मायावती का पार्टी में जलजला कितना है। इसका नजारा सोमवार को कोठी मीना बाजार में आयोजित चुनावी रैली में दिखाई दिया। मायावती के करीब 40 मिनट भाषण के दौरान आगरा धौलपुर जिले के 14 बसपा प्रत्याशी हाथ बांधे खड़े रहे। चुनावी रैली में बसपा प्रमुख ने बीजेपी, कांग्रेस, सपा को जमकर कोसा। कहा, केंद्र की भाजपा सरकार ने नोट बंदी की तो हम जनता के लोग अब वोट बंदी कर भाजपा को सबक सिखाएंगे। सपा सरकार पर कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं हैं। चोरी,डकैती, अपहरण, बलात्कार, जमीनों पर कब्जे, गुण्डागर्दी का बोल वाला है। कांग्रेस ने 60 साल तक शासन किया, लेकिन कुछ नहीं किया। उन्होंने दावा किया कि बसपा सरकार बनी तो अपराधी, जमीनों पर कब्जे वाले सभी जेल में होंगे।

उन्होंने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव पर आरोप लगाया कि इन्होंने कदम-कदम पर अपने भाई शिवपाल को अपमानित किया है जिससे वे अंदर ही अंदर अपने समर्थकों सहित सपा को हराने का कार्य कर रहे हैं। मुस्लिमों के अधिकार बसपा में ही सुरक्षित हैं। उन्होंने भाजपा सरकार और आरएसएस पर आरक्षण से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नोट बंदी से परेशान व्यापारियों के लिए अलग आयोग का गठन किया जाएगा। मंच पर आगरा और मथुरा के 14 विधानसभाओं के प्रत्याशी गुटियारी लाल दुबे, ज्ञानेंद्र गौतम, जुल्फिकार भुट्टो, काली चरन सुमन, डॉ.धर्मपाल सिंह, भगवान सिंह कुशवाह, सूरज पाल सिंह, मधुसूदन शर्मा, उमेश सेंथिया तथा मथुरा के पांचों प्रत्याशियों ने सभा को संबोधित किया।

आगरा. बसपा की रैली में सुप्रीमो मायावती के भाषण के दौरान हाथ बांधे खड़े प्रत्याशी एवं पदाधिकारी। -फोटो : डीके शर्मा

खबरें और भी हैं...