पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • जलीय जीव गणना से दो दिन पूर्व चंबल की शान यंग घड़ियाल मृत पाया

जलीय जीव गणना से दो दिन पूर्व चंबल की शान यंग घड़ियाल मृत पाया

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नेशनलघड़ियाल संरक्षित सेंचुरी की शान घड़ियाल के कुनबे में जहां एक ओर वृद्धि के लिए खूब बजट खर्च कर संरक्षण के लिए बेहतर प्रयास किए जाते हैं। ऐसे में यंग घड़ियाल का जलीय जीवों की गणना से दो दिन पूर्व मृत पाया जाना चंबल सेंंचुरी के लिए बुरी खबर है। राजस्थान सीमा के रेंजर अतर सिंह ने बताया कि गत दिवस वृक्षपालक रण सिंह को एमपी सीमा के रिठौरा घाट पर मीडियम साइज का घड़ियाल मृत पाया गया था। इसकी सूचना उसने चंबल सेंचुरी के उच्चाधिकारियों सहित लोकल अफसरों को दी। इस पर अधिकारियों ने एमपी सीमा के सेंचुरी के अफसरों को सूचना दी। मृत घड़ियाल को देखने के लिए आसपास के ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। मृत घड़ियाल की जानकारी मिलते ही मुरैना से आई टीम मृत घड़ियाल को पोस्टमार्टम के लिए ले गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मछुआरों के जाल में फंस जाने से घड़ियाल की मौत होने की भी आशंका जता रहे हैं। इधर, एमपी सीमा के अधिकारियों से संपर्क करना चाहा गया तो फोन नहीं मिल पाया।

बता दें कि मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश राजस्थान की संयुक्त टीम की ओर से 8 फरवरी से चंबल नेशनल सेंंचुरी में जलीय जीवों की गिनती की जाएगी। जिसमें सात फरवरी को घड़ियाल, मगर, कछुआ पक्षियों के विशेषज्ञ गणना में शामिल होंगे। ऐसे में गणना से दो दिन पूर्व रिठौरा घाट पर यंग घड़ियाल का मृत पाए जाना चंबल जलीय जीवों के कुनबे में दुखद खबर है। क्योंकि गणना में शामिल एक्सपर्ट जलीय जीवों के कुनबे में वृद्धि को लेकर आशंकित ही रहते हैं। डीएफअो चंबल सेंचुरी सवाईमाधोपुर महेश गुप्ता ने बताया कि शनिवार रात को शंकरपुरा के पास अपने स्टाफ रणसिंह को एमपी सीमा के घाट पर घड़ियाल के मृत पाए जाने की खबर दी। रविवार सुबह एमपी सीमा के अधिकारी घड़ियाल को ले गए। अपनी सीमा में घड़ियाल मृत नहीं मिला है। वह कार्रवाई कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि यहां चंबल सफारी में घड़ियालों को देखने के लिए बड़ी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक आते हैं।

पोस्टमार्टम के बाद बाद ही पता चलेगा मरने का कारण

गतरविवार शाम को एक मीडियम साइज का घड़ियाल मुरैना सीमा के रिठौरा घाट पर मृत पाए जाने की सूचना वृक्षपालक रण सिंह ने दी। इस पर सेंचुरी के आलाधिकारियों सहित एमपी प्रशासन को सूचना दे दी गई है। एमपी से आए अधिकारी पीएम के लिए घड़ियाल को अपने साथ ले गए हैं। घड़ियाल की मौत किस कारण हुई है, यह तो पोस्टमार्टम के बाद ही पता चल पाएगा।

धौलपुर. रिठौरा घाट पर मृत मिला घड़ियाल

खबरें और भी हैं...