• Hindi News
  • National
  • मनरेगा में जो भी जॉब कार्डधारक काम चाहता है उसे काम दें: शुचि त्यागी

मनरेगा में जो भी जॉब कार्डधारक काम चाहता है उसे काम दें: शुचि त्यागी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिलाकलेक्टर शुचि त्यागी ने मनरेगा की प्रगति की शुक्रवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में समीक्षा की।

कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जो भी जॉब कार्डधारक काम चाहता हैए उसे काम दें। गत वर्ष जिले में 671 परिवारों ने 100 दिन काम किया था। इसे बढाने की जरूरत है। कलेक्टर ने बताया कि मनरेगा में श्रमिक को भुगतान में विलम्ब को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। विलम्ब के कारण उसका योजना में विश्वास कम हो जाता है। चालू वित्त वर्ष में लापरवाही के चलते भुगतान विलम्ब के कारण कुछ कनिष्ठ लिपिक, ग्राम पंचायत सचिव, लेखाकार और कनिष्ठ अभियन्ताओं पर 30071 रूपए की शास्ति और विलम्ब क्षतिपूर्ति राशि लगाई गई है। वर्तमान में जिले में 1816 मनरेगा कार्य चल रहे हैं। यहॉं 26761 श्रमिक कार्यरत हैं। गत पखवाडे में औसत मजदूरी 125 रूपए आई है। कलेक्टर ने राज्य बजट 2017.18 घोषणा के बिन्दुओं की पालना की भी समीक्षा की। इसके अन्तर्गत मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजना में 40 ग्राम पंचायतों को शामिल करने का लक्ष्य था। इनमें धौलपुर में 14, सैंपऊ और राजाखेडा में 9.9 तथा बाडी और बसेडी में 4.4 ग्राम पंचायते हैं। कलेक्टर ने इन कार्यो को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।

10 आंगनबाडी केन्द्रों के निर्माण का लक्ष्य था। इसके मुकाबले 31 स्वीकृत कर 14 का निर्माण पूर्ण कर दिया गया है। 500 वर्मी कॅपोस्ट टैंक के निर्माण के लक्ष्य के मुकाबले 896 स्वीकृत किए। इनमें से 65 का निर्माण पूर्ण हो चुका है। 25 स्थानों पर सडकों के किनारे वृक्षारोपण के लक्ष्य के मुकाबले 100 की स्वीकृति निकली तथा 84 जगह वृक्षारोपण का कार्य प्रगति पर है। 155 अनाज भण्डारण केन्द्र के निर्माण के लक्ष्य के मुकाबले 5 का निर्माण हो चुका है। 125 खेल मैदान के लक्ष्य के मुकाबले 28, 25 हॉर्टिकल्चर प्लान्टेशन के लक्ष्य के मुकाबले 39, 1728 कैटल शेड के लक्ष्य के मुकाबले 185 का निर्माण पूर्ण हो चुका है।

इस बारे में जिला कलेक्टर शुचि त्यागी ने कहा कि किसी जॉब कार्डधारी श्रमिक को महानरेगा कार्य से वंचित नहीं किया जाए। सभी महानरेगा कार्य में किसी भी प्रकार शिथलिता नहीं बरती जाए। वहीं समय पर महानरेगा के कार्य पूर्ण किए जाए। जिससे लोगों को समय पर काम होने से राह आसान हो सके।

बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कानारामए मनरेगा के अधिशाषी अभियन्ता हरिसिंह मीणा भी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...