• Hindi News
  • National
  • घाटोल में 10 इंच बारिश, लबालब हुआ हेरोडैम

घाटोल में 10 इंच बारिश, लबालब हुआ हेरोडैम

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आज भी भारी बारिश होने की चेतावनी

भास्कर संवाददाता| बांसवाड़ा/घाटोल

शहरसे 30 किमी दूर घाटोल उपखंड में पिछले 24 घंटे में 240 मिमी यानी करीबन 10 इंच बारिश हुई। कई घरों में भी पानी भर गया है। मानसून की पहली मूसलाधार बारिश में ही घाटोल का हेरोडैम भर गया।

गुरुवार रात और शुक्रवार को दिनभर हुई बारिश से नदी, नाले और तालाब लबालब हो गए। क्षेत्र में सड़कों और पुलिया पर पानी भर गया। इससे कई जगह आवागमन रुक गया। तेज हवा के साथ हुई बारिश के कारण कई कच्चे मकान भी ढह गए। साथ ही टीनशेड और छप्पर भी उड़ गए। तेज बारिश के दौरान हेरोडैम से पानी छलकने लगा।

घाटोल उपखंड क्षेत्र में पिछले 24 घंटे से हो रही तेज बारिश के कारण लोगों के घरों में पानी घुस गया। घाटोल के पुराने बसस्टैंड परिसर में कई व्यापारियों के केबिन और गाड़िया लोहारों की झाेपड़ियां पानी में बह गई। रात को गाड़िया लोहार के परिवारों को दूसरों के घरों में शरण लेनी पड़ी। साथ ही क्षेत्र के पड़ोली गोवर्धन के गोरावारड़ी गांव की सियाड़ी नदी में उफान आने पर आसपास रहने वाले करीब 10 से 15 लोगों के मकान पानी में डूब गए। रात करीब दो बजे घरों में खांट तक पानी आने के बाद सोए हुए लाेग जागे और बाहर निकले। नदी उफान पर होने से नेशनल हाईवे 113 पर बनाई गई रिंगवॉल भी पानी में बह गई, जिससे पुल क्षतिग्रस्त हो गया।

घाटोल. मूसलाधार बारिश के बाद छलक उठा क्षेत्र का हेरोडैम।

बांसवाड़ा. बरसातके मौसम में आमजन को संभावित खतरे से आगाह किए जाने के उद्देश्य को लेकर जिला कलेक्टर (आपदा एवं सहायता) भगवतीप्रसाद ने आदेश जारी किए हैं। जिसके तहत उन्होंने जिले के सभी विकास अधिकारियों एवं आयुक्त नगर परिषद, बांसवाड़ा अधिशासी अधिकारी नगरपालिका कुशलगढ़ को जलाशयों पर चेतावनी बोर्ड लगाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने सभी क्षेत्रीय अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में जहां-जहां जलाशय, जल प्रपात और झरने हैं और जहां लोग इकट्ठा होते हैं, ऐसे स्थानों पर तीन दिवस में चेतावनी बोर्ड लगाने को कहा है।

मौसम विभाग ने शनिवार को भारी बारिश होने की चेतावनी दी है। इसके मद्देनजर कलेक्टर ने भी जिलेभर के अधिकारियों को सतर्क रहने को कहा है। साथ ही उन्होंने सभी क्षेत्रवार अधिकारियों पानी के बहाव वाले स्थानों पर नजर रखने को कहा है। कृषि अनुसंधान केंद्र के संभागीय निदेशक अनुसंधान डॉ.प्रमोद रोकड़िया ने बताया कि अरब सागर से उठा मानसून तंत्र खासा सक्रिय है और शनिवार को भारी बारिश होने की संभावना है। साथ ही ये मानसून तंत्र डूंगरपुर-प्रतापगढ़ क्षेत्रों में भी प्रभावी रहेगा।

खबरें और भी हैं...