पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • चरवाहे की मौत पर हंगामा, 3 घंटे जाम

चरवाहे की मौत पर हंगामा, 3 घंटे जाम

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेरहाईवे पर संगम मिल के पास गुरुवार सुबह सड़क पार करते समय ट्रेलर की टक्कर लगने से चरवाहे की मौत हो गई। गुस्साए ग्रामीणों ने जाम लगाया। इससे भीलवाड़ा-अजमेर हाईवे के दोनों और वाहनों की चार किलोमीटर लंबी की कतार लग गई। पुलिस प्रशासन के आश्वासन पर ग्रामीणों ने तीन घंटे बाद जाम खोला। इस दौरान शव सड़क पर पड़ा रहा।

रायला थाना प्रभारी शिवराज गुर्जर ने बताया कि लिरड़िया खेड़ा निवासी पांचूराम (30) पुत्र कल्याणमल गुर्जर की गुरुवार सुबह 9.45 घर से भेड़ें लेकर जंगल जाते संगम मिल के पास सड़क पार करते समय एक ट्रेलर की चपेट में आने से मौत हो गई। ट्रेलर भीलवाड़ा से अजमेर की ओर जा रहा था। चालक ट्रेलर छोड़कर भाग गया। खबर सुनकर ग्रामीण पहुंच गए। इन लोगों ने आए दिन हादसों की बात कहते हुए वहां ओवरब्रिज या अंडरब्रिज बनाने मृतक आश्रितों को मुआवजा देने की मांग कर भीलवाड़ा-अजमेर मार्ग पर जाम लगा दिया। ग्रामीण, कलेक्टर को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गए। पुलिस को शव भी नहीं उठाने दिया। गुलाबपुरा एसडीएम, डीएसपी, मांडल डीएसपी, मांडल, रायला गुलाबपुरा थाने सहित पुलिस लाइन से जाब्ता पहुंचा। दोपहर साढ़े बारह बजे ग्रामीणों ने जाम खोला।

बिलखते रहे परिजन

पांचूकी मौत की खबर जब उसके गांव पहुंची तो परिवार की महिलाएं, पुरुष बच्चे दुर्घटनास्थल पर पहुंच गए। उधर, तीन घंटे पांचू का शव सड़क पर पड़ा रहा और परिजन बिलखते रहे। परिजनों को रोता-बिलखता देखकर वहां मौजूद हर व्यक्ति की आंखें नम हो गईं।

यहदिया आश्वासन

ग्रामीणोंसे पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों की ढाई घंटे बातचीत चली। अधिकारियों ने 50 हजार रुपए मुआवजा अंडरब्रिज का प्रस्ताव उच्चाधिकारियों तक पहुंचाने का ग्रामीणों को आश्वासन दिया। इस पर ग्रामीण जाम खोलने के लिए मान गए।