• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Jaisalmer News
  • 26 रेलवे स्टेशन होंगे आधुनिक, जयपुर-सवाईमाधोपुर लाइन के विद्युतीकरण के लिए सर्वे
--Advertisement--

26 रेलवे स्टेशन होंगे आधुनिक, जयपुर-सवाईमाधोपुर लाइन के विद्युतीकरण के लिए सर्वे

राजस्थानमें जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर समेत प्रदेश के 26 रेलवे स्टेशनोंं को केंद्र सरकार नए सिरे से विकसित करेगी।...

Dainik Bhaskar

Dec 17, 2015, 03:56 AM IST
राजस्थानमें जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर समेत प्रदेश के 26 रेलवे स्टेशनोंं को केंद्र सरकार नए सिरे से विकसित करेगी। इसके लिए केंद्र सरकार ने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। स्टेशनों को निजी साझेदारी के तहत विकसित किया जाएगा। देश भर में 400 स्टेशनों को इस तर्ज पर विकसित किया जाना है। इसके साथ ही रेलवे ने प्रदेश में बांसवाड़ा- रतलाम नई रेलवे लाइन के लिए 120 करोड़ रुपए जारी किए है जबकि टोंक- अजमेर लाइन के लिए अभी कोई राशि स्वीकृत नहीं की है। जयपुर- सवाईमाधोपुर रेलवे लाइन के विद्युतीकरण के लिए रेलवे बजट में घोषणा तो नहीं की, लेकिन सर्वे और स्टडी का काम चल रहा है।

यह जानकारी लोकसभा में रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने बुधवार को राजस्थान के सांसदों की ओर से पूछे गए सवालों के जवाब में दी। मनोज सिन्हा के मुताबिक स्टेशनों का चयन इनके महत्व के आधार पर किया गया है। बड़े शहर, तीर्थ स्थल और पर्यटन के लिहाज से महत्वपूर्ण स्टेशनों को इस श्रेणी में शामिल किया गया है। स्टेशनो की की दो श्रेणियां बनाई हैं ए- 1 और ए। उन्होंने बताया कि आधुनिक स्टेशनों को सुंदर बनाने के साथ- साथ व्यावसायिक लिहाज से भी लाभकारी बनाया जाएगा। सात स्टेशनों के आधुनिकीकरण की जिम्मेदारी भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम को सौंपी गई है। एक स्टेशन की जिम्मेवारी रेलवे भूमि विकास प्राधिकरण को सौंपी है।

येस्टेशन बनेंगे आधुनिक : जयपुर,गांधीनगर (जयपुर), जोधपुर, अजमेर, कोटा, सवाईमाधोपुर, आबू रोड, अलवर, बांदीकुई, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, फालना, हनुमानगढ़, लालगढ़, मारवाड़ जंक्शन, नागौर, पाली मारवाड़, फुलेरा, रानी, श्रीगंगानगर, सूरतगढ़, उदयपुरसिटी, जैसलमेर, भरतपुर, चित्तौडगढ आदि है।

बांसवाड़ा-रतलाम लाइन के लिए केंद्र ने दिए 120 करोड़ : सिन्हाने एक सवाल के जवाब में कहा कि बांसवाड़ा के रास्ते रतलाम डूंगरपुर नई लाइन का काम शुरू हो गया है। इस परियोजना पर अनुमानित लागत 3450 करोड़ रुपए है। इस रेलवे लाइन के लिए केंद्र ने वर्ष 2015- 16 के लिए 120 करोड़ की राशि दी गई है और राज्य सरकार द्वारा इसके लिए 100 करोड़ दिए गए है।







दूसरी नई लाइन टोंक के रास्ते अजमेर (नसीराबाद ) सवाईमाधोपुर (चौथ का बरवाड़ा ) परियोजना पर 874 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इस नई रेलवे लाइन के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार ने वर्ष 2015- 16 के लिए अभी तक कोई धनराशि जारी नहीं की है।

जयपुर सवाईमाधोपुर रेलवे लाइन के विद्युतीकरण की घोषणा नहीं की : रेलवे राज्यमंत्री

जयपुर सांसद रामचरण बोहरा के एक सवाल के जवाब में बुधवार को रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि 131 किमी लंबे जयपुर- सवाईमाधोपुर खंड के रेलवे लाइन के विद्युतीकरण की रेलवे बजट में घोषणा नहीं की गई है। हालांकि उन्होंने स्वीकारा कि इस लाइन के विद्युतीकरण के लिए सर्वेक्षण एवं व्यावहारिक अध्ययन किया गया है। विद्युतीकरण की समय सीमा को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में मनोज सिन्हा ने कहा कि ट्रांसमिशन एवं वित्तीय आधार पर अंतिम निर्णय लिया लिया जाएगा।

छोटी लाइन को बड़ी लाइन में परिवर्तित का काम : राजसमंद सांसद हरिओम सिंह राठौड़ के सवाल के जवाब में रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि राजस्थान में 31 मार्च 2015 तक 916 किमी छोटी रेल लाइन है।

क्रसं. : लाइन का नाम : लंबाई किमी में : टिप्पणी

1. हिम्मत नगर- उदयपुर : 208 : मिट्टी, पुल संबंधी कार्य काम तथा समपारों को बंद करने के लिए काम शुरू कर दिया है।

2. मावली : बडी सादड़ी : 83 : अंतिम स्थान निर्धारण सर्वेक्षण पूरा कर लिया है।

3. जयपुर- सीकर-चूरू और सीकर- लोहारू : 320 : सीकर- लोहारू 122 खंड पर काम पूरा कर इसे यातायात के लिए खोल दिया है। शेष खंड पर मिट्टी संबंधी तथा गिट्टी सप्लाई संबंधी काम शुरू कर दिए गए हैं।

4. रतनगढ़- सरदारशहर : 47 : 41 किमी का रेल मार्ग संपर्क का काम पूरा कर लिया गया है।

5. सूरतगढ़- हनुमानगढ़- श्रीगंगानगर : 241 : हनुमानगढ़-श्रीगंगानगर खंड पर काम पूरा कर लिया गया है। इसे यातायात के लिए खोल दिया गया है। सूरतगढ़- एलीनाबाद- हनुमानगढ़ खंड पर इंजन रोलिंग कर लिया गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..