• Hindi News
  • National
  • किराणा की दुकानों पर हर समय मिलती है शराब, आबकारी नहीं कर रहा कार्रवाई

किराणा की दुकानों पर हर समय मिलती है शराब, आबकारी नहीं कर रहा कार्रवाई

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहरसहित क्षेत्र के आस पास गांवों मे शराब की दुकानों पर आबकारी विभाग के कोई नियम कानून नहीं चलते ठेकेदार अपने मनमाने तरीके से ही दुकानों का संचालन करते नजर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों मे शराब के दुकानदारों ने हर गांव मे ब्रांच खोल दिये गये जहां पूरे दिन शराब मिलती है। शहर के बिजलीघर चौराहा, निंबोल रोड़, झूझंडा रोड़, निमाज रोड़ पर स्थित दुकानों सहित निमाज, आगेवा, कुशालपुरा, निंबोल, आनंदपुर कालू, बलून्दा, बांझाकुडी बलाड़ा, रास, राबड़ियावास, कुड़की, भूंबलिया, रामपुरा कलां, देवली कलां, चावंडिया कलां, गरनिया आदि गांवों में शराब की ब्रांचें खोलने से ग्रामीणों को भी परेशानी हो रही है। शिकायत के बावजूद आबकारी विभाग कार्रवाई नहीं कर रहा है।

कृषिभूमि पर संचालित दुकानें :अधिकांश गांवों में कृषि भूमि पर शराब दुकान संचालित हो रही हैं जिससे राज्य सरकार को भी आर्थिक नुकसान हो रहा हैं, पूर्व मे भी बिना वाणिज्य कन्वर्जन को लेकर तहसीलदार ने उनके खिलाफ कार्यवाही की गई थी।

गोदामकी आड़ मे संचालित दो दुकानें : आबकारीविभाग से माल गोदाम के नाम से परमिशन लेकर उस गोदाम पर रात्रि में आठ बजे के बाद शराब बेचना शुरू करते हैं। जबकि विभाग का नियम हैं कि गोदाम पर माल का भंडारण किया जा सकता लेकिन भंडारण की आड़ में दुकानें संचालित होती हैं।

ऐसी दुकानों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे

^क्षेत्रमें रात्रि आठ बजे के बाद दुकानें खुली रहती हैं तो गलत हैं। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे। पूर्व में मिली शिकायतों पर भी कार्रवाई की गई है। -मदनलाल गुर्जर, सीआई, आबकारी विभाग जैतारण

जैतारण. रात को दुकान के शटर के नीचे से शराब बेचते हुए।

खबरें और भी हैं...