• Hindi News
  • National
  • शहरवासियों को गुलाब का फूल देकर हेलमेट पहनने का किया आग्रह

शहरवासियों को गुलाब का फूल देकर हेलमेट पहनने का किया आग्रह

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिलेमें सड़क हादसों को कम करने और लोगों को यातायात नियमों की जानकारी देने के लिए सोमवार से सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत की गई। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि से शुरू हुए इस अभियान की शुरूआत यातायात पुलिस की ओर से गांधीगिरी तरीके से की गई। इसके लिए जिन्होंने हेलमेट और कार बेल्ट नहीं लगा रखा था, उनके माथे पर गुलाल का तिलक लगा और हाथ में गुलाब का फुल थमा हेलमेट पहनने और गाड़ी चलाते समय सीट बेल्ट बांधने की अपील की। इस दौरान अस्पताल चौराहे पर यातायात पुलिस कर्मियों की ओर से माथे पर गुलाल का तिलक हरदेव जोशी सर्किल पर तैनात यातायातकर्मियों की ओर से गुलाब का फूल दिया गया। इससे पूर्व अभियान सड़क सुरक्षा सप्ताह अभियान की शुरूआत रैली निकाल कर की गई। रैली को विधायक अमृता मेघवाल, कलेक्टर अनिल गुप्ता और एसपी कल्याण मल मीणा ने हरि झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर यातायात प्रभारी तेजू सिंह समेत यातायात विभाग के हैड कांस्टेबल रणछोड़ राम, महिपाल सिंह, फुलाराम, राणाराम, भैराराम, जब्बर सिंह, अर्जुन कुमार, छगनाराम, शैतान सिंह, सुरेंद्र कुमार और भंवरदान चारण आदि मौजूद थे। इधर, शाम को कलेक्ट्रेट परिसर में सरकारी वाहनों एवं ऑटो रिक्शा तथा जीप आदि वाहनों पर लाल सफेद रंग के रिफ्लेक्टर लगाए गए। इस मौके कलेक्टर अनिल गुप्ता, एसपी कल्याणमल मीना, जिला परिवहन अधिकारी प्रेमराज खन्ना सहित बड़ी संख्या में अधिकारी वाहन चालक उपस्थित थे।

सड़क सुरक्षा सप्ताह को लेकर संगोष्ठी आज

जालोर.सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय शहरी में संगोष्ठी का आयोजन मंगलवार को एसपी कल्याणमल मीणा और डीटीओ प्रेमराज समेत प्रधानाचार्य आनंद सिंह पार्षद भरत कुमार मेघवाल की अध्यक्षता में आयोजित किया जाएगा। संगोष्ठी में स्कूली बच्चों को यातायात नियमों के बारे में जानकारी दी जाएगी।

पहलेदिन 80 चालान काटे

जालोर.यातायात प्रभारी तेजूसिंह ने बताया कि सड़क सुरक्षा सप्ताह के पहले दिन बिना नंबर, तीन सवारी तथा मोबाइल पर बात करते 80 दुपहिया वाहन चालकों के चालान बनाए गए। उन्होंने बताया कि पहले दिन कई लोगों से समझाइश की गई। सप्ताह के तहत आगामी दिनों में यातायात नियमों की पालना में सख्ती बरती जाएगी।

एकसाल में 45 हादसों में 17 मौतें

जिलाप्रशासन और जिला पुलिस की ओर से सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरूआत हो चुकी है। हेलमेट इसलिए भी जरूरी है कि सड़क हादसों में अधिकांश मौतें हेलमेट पहनने की वजह से हुई है। आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो एक साल में 45 मोटरसाइकिल एक्सीडेंट हुए। जिनमें 17 मौतें हुई थी। वहीं साल भर में कुल 272 सड़क दुर्घटनाएं हुई, जिसमें 171 लोगों की मौत और 256 लोग घायल हुए थे।

पहले दिन केवल अपील, लेकिन आज सख्त रहेगी पुलिस

अभियानके पहले दिन यातायात पुलिस कर्मियों ने सभी वाहन चालकों को यातायात के नियमों का पालन करने का आह्वान किया। इस दौरान जो भी बिना हेलमेट के थे उन्हें एक तरफ रुकवा उसकी उपयोगिता के बारे में बताया। यातायात प्रभारी तेजू सिंह ने बताया कि अभियान के पहले दिन समझाइश की गई, लेकिन मंगलवार से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

हरिदेव जोशी सर्किल पर गुलाब का फूल देकर हेलमेट पहनने की अपील करते यातायातकर्मी।

विद्यार्थियों ने रैली निकाल दी यातायात की जानकारी

सड़कसुरक्षा सप्ताह के तहत सोमवार को नगर परिषद से स्कूली विद्यार्थियों की ओर से रैली निकाल यातायात नियमों की जानकारी दी। यह रैली शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए नगर परिषद पर विसर्जित हुई। इसके साथ ही यहां पर वाहन चालकों को यातायात नियमों पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी दिखा उन्हें हेलमेट पहनने और सीट बेल्ट बांधने के लिए जागरूक किया।

सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत रैली को रवाना करते कलेक्टर, एसपी तथा विधायक।

खबरें और भी हैं...