• Hindi News
  • National
  • लेखा सेवा में वेतन विसंगतियों के विरोध में लेखाकर्मियों ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

लेखा सेवा में वेतन विसंगतियों के विरोध में लेखाकर्मियों ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थानअकाउंटेंट्स एसोसिएशन के आह्वान पर जिला शाखा के समस्त अधीनस्थ लेखा सेवा के कार्मिक वेतन विसंगतियों के विरोध में सोमवार को सामूहिक अवकाश पर रहे तथा अपनी मांगों के संबंध में मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। इससे पूर्व जिले के समस्त लेखाकर्मी मुख्य संरक्षक ईश्वरलाल शर्मा की अध्यक्षता कोषाधिकारी कानाराम प्रजापत के सानिध्य में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें जिलाध्यक्ष कानाराम परमार ने बताया कि अधीनस्थ लेखा सेवा संवर्ग में कनिष्ठ लेखाकार, सहायक लेखाधिकारी ग्रेड-ाा, सहायक लेखाधिकारी ग्रेड-ा के पद स्वीकृत है जिनकी वर्तमान ग्रेड-पे 3600, 4200 एवं 4800 रुपए हैं। इन पदों के समकक्ष अन्य सेवा के द्वितीय श्रेणी के पदों पर नियुक्त कार्मिकों को पांचवें छठे वेतन आयोग में अधिक वेतन स्वीकृत होने पर वेतन विसंगति दूर करने की मांग वर्ष 1998 से लंबित है। द्वितीय श्रेणी के कई कार्मिकों को 5500-9000 का स्केल दिया गया।

इसी प्रकार अन्य संवर्गों में समकक्ष पदों का वेतनमान 2008 में कनिष्ठ लेखाकार को ग्रेड पे-3600 स्वीकृत की गई हैं, जबकि अन्य संवर्गों के समकक्ष अन्य पदों को 4200 रू. स्वीकृत किया गया है। अत: कनिष्ठ लेखाकार को वेतनमान 1998 में वेतन श्रृंखला 5500-9000 एवं वेतनमान 2006 में ग्रेड-पे पूर्ववर्ती प्रभाव से 4200 रुपए किए जाने की मांग की गई। बैठक में ललित दवे, मदनलाल परिहार, ओमप्रकाश गादोडिया रोहिताश्व कुमार ने विचार व्यक्त किए। इसके अतिरिक्त बैठक में अतिरिक्त कोषाधिकारी अर्जुनसिंह खीची, देवाराम, लक्ष्मी नारायण दवे, लालसिंह, सुरेश टेलर, बसंत शाहजी, नवनीत रांकावत, रामगोपाल बिश्नोई, पीराराम सोनी सहित समस्त लेखासेवा के पदाधिकारी एवं सदस्य मौजूद रहे।

जालोर. सीएमके नाम का कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते एसोसिएशन के सदस्य।

खबरें और भी हैं...