--Advertisement--

वार्षिकोत्सव में खेतेश्वर महाराज के गूंजे जयकारे

खेतेश्वर जन्म स्थली बिजरोल खेड़ा में सप्तम वार्षिकोत्सव को लेकर शनिवार को आखिरी दिन कई धार्मिक कार्यक्रमों का...

Dainik Bhaskar

Apr 12, 2015, 03:45 AM IST
वार्षिकोत्सव में खेतेश्वर महाराज के गूंजे जयकारे
खेतेश्वर जन्म स्थली बिजरोल खेड़ा में सप्तम वार्षिकोत्सव को लेकर शनिवार को आखिरी दिन कई धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। शनिवार सुबह से ही मंदिर में दर्शन को लेकर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। दोपहर तक श्रद्धालुओं की लंबी कतारें नजर आई। महाआरती के दौरान हजारों की संख्या में भक्तों ने खेतेश्वर महाराज की प्रतिमा के समक्ष पूजा अर्चना कर मंगल कामना की। चारों तरफ खेतेश्वर महाराज के जयकारों से वातावरण भक्तिमय नतर आया।

वहीं कुछ श्रद्धालु यहां पैदल भी पहुंचे। शनिवार को महाआरती के अलावा शुभ वेला ब्रह्मयाग, समस्त देव विग्रह पूजन, महाप्रसादी, महाआरती, मंदिर ध्वजारोहण, 12 पूर्णिमाओं, 12 अखंड ज्योत भोग चढ़ावों की बोलियां, संत महात्माओं के प्रवचन आशीर्वचन सहित कई धार्मिक कार्यक्रम हुए। वार्षिकोत्सव को लेकर आयोजित हवन में यजमानों ने आहुति दी। पुरोहित कोशिक ने बताया कि ग्यारह हजार आहुतियां देकर लक्ष्मी नारायण यज्ञ समन्न करवाया गया। इससे पहले शुक्रवार को बिजरोल खेड़ा पहुंचे खेड़ा आसोतरा के गादीपति संत तुलसाराम महाराज का ग्रामीणों की ओर से पुष्पवर्षा से स्वागत सत्कार किया गया। साथ ही अन्य साधु संतों का भी स्वागत किया गया। इस अवसर पर चेतनानंद महाराज डंडाली, सत्यानंद महाराज रविधाम गुजरात, बालकानंद महाराज गादेरा, रावत भारती महाराज, अमराराम महाराज समदडी, जालोर एस पी सत्येन्द्र कुमार, सांचोर डिप्टी सुनिल के पंवार, पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी, सांचोर विधायक सुखराम विश्नोई सहित कई गणमान्य लोगों ने इस वार्षिकोत्सव में शिरकत की।



बालिकाशिक्षा पर जोर देने की अपील

वार्षिकोत्सवको लेकर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नगराज राजपुरोहित ने समाज में बालिका शिक्षा पर जोर देने की बात कही। विधायक विश्नोई ने नशे से दूर रहने को कहा। ट्रस्ट के माहमंत्री धूकाराम राजपुरोहित ने बताया कि इस दौरान करीब 50 से अधिक लोगों ने नशे की लत छोड़ने की शपथ ली।

झाब. मंच पर विराजमान संत तुलसाराम महाराज साधु-संत।

भजन संध्या में झूमे श्रोता

ब्रह्मर्षिखेताराम महाराज एवं अष्ट ऋषि प्राण प्रतिष्ठा के सप्तम वार्षिकोत्सव को लेकर शुक्रवार का बिजरोल खेड़ा के खेतेश्वर महाराज मंदिर प्रागंण में भजन संध्या का आयोजन किया गया। भजन संध्या की शुरूआत संत तुलाराम महाराज ने मां सरस्वती गुरू महाराज की प्रतिमा के आगे द्वीप प्रज्ज्वलित कर की। इसके बाद गायक कलाकार जयराम वैष्णव ने गणपति गुरूवंदना से भजन संध्या की शुरुआत की। इसके बाद च्अरज करूं खेतेश्वर दाता...ज्, च्काना काकरिया मत मार...ज्, च्बीणो बाजे रे सांवरिया थारे नाम रो...ज्, च्अरे द्वारपालों कन्हैया से कह दो...ज् भजन पर पांडाल में बैठे श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया। इस दौरान पांडाल में काफी संख्या में श्रोता मौजूद थे।

पारंपरिक गैर नृत्य आयोजित

वार्षिकोत्सवके दौरान शनिवार को पांडाल में पारंपरिक गैर नृत्य का आयोजन किया गया। जिसे देखने काफी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। गैरियों द्वारा विशेष रूप से पहनी हुई पौशाक में ढोल पर गैर नृत्य प्रस्तुत किया गया। वहीं मंदिर के बाहर लगी दुकानों पर भी लोगों ने जमकर खरीदारी की। मेले को देखते हुए कईयों ने अपनी दुकाने पहले से यहां लगा रखी थी। रात्रि में पूरा मंदिर रंगबिरंगी रोशनी से सजा नजर आया।

झाब. बिजरोल खेड़ा में सप्तम वार्षिकोत्सव को लेकर शनिवार को आयोजित कार्यक्रम में मौजूद लोग।

X
वार्षिकोत्सव में खेतेश्वर महाराज के गूंजे जयकारे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..