• Hindi News
  • National
  • जिनालय में मोक्ष दिवस पर शांति विधान मंडल

जिनालय में मोक्ष दिवस पर शांति विधान मंडल

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहरमें बस स्टैंड स्थित दिगंबर जैन महावीर जिनालय में बुधवार को जैन मुनि विश्रांतसागर महाराज के सानिध्य में आर्यिका अक्षयमति माताजी के मोक्ष दिवस पर शांति मंडल विधान का आयोजन किया गया। शांति मंडल विधान प्रतिष्ठाचार्य प.नरेंद्र जैन शास्त्री ने सम्पन्न करवाया।

इससे पूर्व सुबह साढे़ आठ बजे बडे़ दिगंबर जैन मंदिर में प्रवचन देते हुए विश्रांतसागर महाराज ने कहा कि सूर्यउदय के पूर्व सोकर उठने वाला व्यक्ति धर्मात्मा होता है। उस समय ब्रह्म मुहूर्त होता है, सभी देव भ्रमण करते है। सूर्य उदय के बाद उठने वाला व्यक्ति राक्षस प्रवृति का होता है।

जरूरतसे ज्यादा संग्रह नहीं करें: मुनिश्री

कापरेन.जैनसंत आचार्य विनितसागर महाराज ने दिगंबर जैन नसिया मंदिर पर बुधवार को प्रवचन देते हुए कहा कि जीवन को सफल बनाने के लिए नियमों का पालन आवश्यक है। छोटे-छोटे नियमों का पालन करके भी बड़ी सफलता हासिल की जा सकती है। जिस प्रकार घुटनों के बल चलने वाला बालक ही अपने पैरों पर खड़ा होता है। उन्होंने कहा कि आवश्यकता से अधिक संग्रह नहीं करना चाहिए। संग्रह करने से वस्तुओं के प्रति स्नेह, मोह बढ़ता है और भोग विलासिता बढ़ती है। यदि मोह ही रखना है तो ईश्वर के प्रति रखे। प्रवचनों के बाद दोपहर को स्वाध्याय, शंका समाधान शाम को महाआरती, आनंदयात्रा का आयोजन हुआ। समाज के राजेंद्र पाटनी, जितेंद्र पापडीवाल ने बताया कि शनिवार को श्रीपार्श्वनाथ भगवान का जन्म, तप कल्याणक महोत्सव आचार्य विनितसागर महाराज का 45वां जन्म जयंती समारोह मनाया जाएगा।

बूंदी.जैनमुनि कंचन सागर महाराज का बुधवार शाम चौगान जैन मंदिर में मंगल प्रवेश हुआ। समाजबंधु बड़ानयागांव से शहर के मुख्य मार्ग से होते हुए उन्हें चौगान जैन नोहरे में लाए। महाराज की अगवानी यहां समाज के महिला-पुरुषों ने की। समाज प्रवक्ता गुंजन बाकलीवाल ने बताया कि इस मौके पर समाज अध्यक्ष विनोद पाटनी, सुरेंद्र छाबड़ा, संतोष पाटनी, निर्मल सोगानी, नगीना रावंका, शंकुतला बड़जात्या सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...