पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • मंदिर से अष्टधातु की दो बेशकीमती मूर्तियां चोरी

मंदिर से अष्टधातु की दो बेशकीमती मूर्तियां चोरी

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मूर्ति गांव थाना कब से

पार्वतीमाता गढ़ीगांव करणपुर 18 वर्ष

सीतारामजी कुडगांव कुडगांव 12 वर्ष

बांके बिहारी चिरचिरी करणपुर 10 वर्ष

सीतारामजी भीमापुरा मंडरायल 10 वर्ष

राधा कृष्ण डाबर करणपुर 09 वर्ष

चतुर्भुजनाथ सपोटरा सपोटरा 08 वर्ष

राधा कृष्ण डंगरिया करणपुर 07 वर्ष

राधा कृष्ण दयारामपुरा करणपुर 07 वर्ष

बांके बिहारी धैारेंटा मंडरायल 07 वर्ष

लड्‌डूगोपाल धमोनिया मंडरायल 06 वर्ष

मुरली मनोहर नानपुर करणपुर 06 वर्ष

राधा कृष्ण सैमरदा सपोटरा 06 वर्ष

पार्वती माता रामठरा सपोटरा 05 वर्ष

बीलोनी माता रामठरा सपोटरा 03 वर्ष

राधा कृष्ण सपोटरा सपोटरा 03 वर्ष

राधाबल्लभ सपोटरा सपोटरा 03 वर्ष

नृसिंह भगवान कुडगांव कुडगांव 02 वर्ष

मुकुट, बांसुरी सपोटरा सपोटरा 02 वर्ष

राधा कृष्ण सपोटरा सपोटरा 02 वर्ष

चांदी के छत्र सपोटरा सपोटरा 1 वर्ष

मुकुट छत्र धौरेटा मंडरायल 1 वर्ष

लड्‌डूगोपाल करौली टाउन चैकी 11 माह

चांदी छत्र, मुकुट चैनपुर कुडगांव 6 माह

नवलबिहारी,राधरानी करई करणपुर 1 िदन

करणपुर. मूर्तियांचोरी की घटना बाद खेत में गाड़ी के टायरों के निशान दिखाते ग्रामीण।

करणपुर . करईगांव के नवलबिहारी मंदिर से मूर्तियां चोरी के बाद ग्रामीणों से पूछताछ करती पुलिस।

करणपुर. मंदिरकी शिला पर लिखा इतिहास।

भास्कर न्यूज | करणपुर

करईगांव से बुधवार रात नवलबिहारी मंदिर का ताला तोड़कर चोर 850 साल पुरानी रियासत कालीन अष्टधातु की नवलबिहारी राधारानी की मूर्तियां चुरा ले गए। चोरी की सूचना पर करणपुर थानाधिकारी सही राम यादव मय जाप्ते के मौके पर पहुंचे और मुआयना किया। मंदिर पुजारी गोकुल शर्मा ने प्राथमिकी दर्ज कराई। पुलिस ने बताया कि पुजारी गोकुल शर्मा अपने भतीजे के साथ मंदिर की सेवा पूजा अर्चना कर बुधवार रात को घर चला गया। मंदिर के सामने ही गोकुल शर्मा के भतीजे बृजबिहारी शर्मा का मकान है।

गुरुवार सुबह 6 बजे भतीजे की सूचना पर वह मंदिर पहुंचा तो गर्भ गृह से भगवान की मूर्तियां गायब मिली। अन्य मूर्तियां बिखरी पड़ी थी। चोरी की सूचना पर मंदिर के बाहर ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठी हो गई। चोरी से ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। पुजारी ने बताया कि करौली रियासत की महारानी नरूका देवी ने करीब 850 साल पहले नवलबिहारी राधारानी की मूर्तियों की स्थापना कराई थी। उनके ना