पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • प्रसूता को लेने गई 108 एंबुलेंस कीचड़ में फंसी, ट्रैक्टर की मदद से निकाला बाहर

प्रसूता को लेने गई 108 एंबुलेंस कीचड़ में फंसी, ट्रैक्टर की मदद से निकाला बाहर

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
किशनगंजके समीप गाडीघटा गांव में गुरुवार रात को प्रसव पीड़ा होने पर प्रसूता को लेकर गई 108 एंबुलेंस कीचड़ में फंस गई। जिसे बाद में एक घंटे की मशक्कत के बाद ट्रैक्टर की मदद से बाहर निकाला गया। बांसथूनी पंचायत के हीरापुर गांव में पंचायत की अनदेखी से मुख्य रास्ते पर सड़क नालियां नहीं होने से सालभर कीचड़ रहता है। ऐसे में गुरुवार रात को करीब 9 बजे गाडीघटा निवासी पिंकी प|ी मनोज के प्रसव पीड़ा होने के बाद किशनगंज से उसे लेने गई 108 एंबुलेंस जाते समय ही बीच कीचड़ में फंस गई। इसे ग्रामीणों की मदद से ट्रैक्टर से निकालकर गाडीघटा के लिए रवाना कर दिया। बाद में वापस आते समय एंबुलेंस फिर से उसी कीचड में गड्ढे में फंस गई, इसमें प्रसूता भी अंदर ही बैठी हुई थी। बाद में फिर से ट्रैक्टर मंगवाया गया और एंबुलेंस को टोचन किया गया। जब तक अंदर बैठी प्रसूता एंबुलेंस के अंदर ही दर्द से कराहती रही। बाद में आधा घंटा बाद एंबुलेंस से प्रसूता का उतारने के बाद नेशनल हाइवे-27 तक लाया गया और ट्रैक्टर की मदद से एंबुलेंस निकाली गई। इस दौरान हीरापुर निवासी रामचरण गुर्जर, रफीक मोहम्मद, नासीर आदि ने बताया कि कई बार पंचायत को अवगत कराने के बाद भी गांव में सड़क का निर्माण नहीं होने से ग्रामीणों को सालभर आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ता है।

किशनगंज. हीरापुर गांव में कीचड़ के चलते प्रसूता को लेने गई एंबुलेंस फंस गई।

खबरें और भी हैं...