पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • स्कूल के संस्था प्रधान अपने दायित्वों का जिम्मेदारी से करें निर्वहन

स्कूल के संस्था प्रधान अपने दायित्वों का जिम्मेदारी से करें निर्वहन

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज |मदनगंज किशनगढ़

अजमेररोड स्थित अग्रसेन भवन पर शुक्रवार से संस्था प्रधानों की सत्रारंभ वाकपीठ संगोष्ठी शुरू हुई। इसका शुभारंभ निम्बार्क पीठ काचरिया के पीठाधीश्वर डाॅ. जयकृष्ण देवाचार्य अतिथियों ने दीप प्रज्जवलित कर किया।

इस अवसर पर देवाचार्य ने कहा कि संस्था प्रधान स्वयं में दायित्व का बोध कराने वाला पद है। इसमें अपने उत्तरदायित्व को समझते हुए जिम्मेदारियों का निर्वहन करना होगा। तभी हम भारतीय संस्कृति संस्कारों से आेतप्रोत शिक्षा का संचलन अपने स्कूलों में कर सकते हैं। आपको आजीविका के लिए अच्छी नौकरी अच्छा पद मिल गया है। इस पद का सदुपयोग करते हुए अगर अपने दायित्वों को समझ कर उनकी पालना करें करवाए तो इससे मिलने वाली शिक्षा, केवल विद्यार्थी अपितु परिवार, समाज, राज्य देश के उत्थान के साथ साथ इंसानियत का भला करेगी। भारतीय मानकों पर आधारित हमारी शिक्षा विश्व का मार्गदर्शन करेगी।

सत्रारंभ संस्थाप्रधान वाकपीठ गोष्ठी की संयोजिका राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक स्कूल की संस्थाप्रधान वंदना वर्मा ने संगोष्ठी की उपयोगिता बताई। गोष्ठी के मुख्य अतिथि विधायक भागीरथ चौधरी ने दायित्व बोध का पाठ पढ़ाया। अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक द्वितीय जगनारायण व्यास ने गोष्ठी की रूपरेखा बताई। यह किस प्रकार स्कूल के सर्वांगीण विकास में उपयोगी होगी की जानकारी दी। इस दौरान अग्रवाल समाज के बालकृष्ण गर्ग, कैलाश अग्रवाल, सहित केकड़ी, भिनाय, अरांई, सिलोरा, सरवाड़, श्रीनगर सहित अन्य जगहों से आए 250 से अधिक संस्थाप्रधान सहित अन्य कर्मी मौजूद रहे। वाकपीठ संगोष्ठी के पहले दिन तीन सत्रों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन सपना वर्मा प्रेमचंद ने किया।

दलीयचर्चा में कई विषयों पर सामूहिक चर्चा

सत्रारंभसंस्थाप्रधान वाकपीठ गोष्ठी के तीसरे सत्र में दलीय चर्चा का आयोजन किया गया। इसमें केकड़ी ब्लाक को आदर्श स्कूल योजना पर प्रेमचंद मोची ने, भिनाय अरांई के लिए एसएमसी एसडीएमसी नवीन प्रावधान पर पूरणचंद मोची, सरवाड़ ब्लाक में कालांश व्यवस्था पर विरेश शर्मा, सिलोरा ब्लाक में आरटीई निरीक्षण पर प्रेमचंद अजमेरा, सुनिल टिंकर तथा श्रीनगर ब्लाक में आईसीटी लैब का प्रभावी उपयोग पर कल्पना माथुर ने वार्ता कर उपयोगी सीख दी।

आजहोगा समापन

संस्थाप्रधान वंदना वर्मा ने बताया कि दो दिवसीय वाकपीठ संगोष्ठी का समापन शनिवार को चौथे सत्र के बाद सांय काल किया जाएगा। संस्था प्रधानों की संगोष्ठी के समापन से पूर्व चार सत्र का आयोजन कर कई विषयों पर चर्चा की जाएगी।

मदनगंज किशनगढ़- अजमेर रोड अग्रसेन भवन संस्थाप्रधान वाकपीठ संगोष्ठी का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ करते निम्बार्क पीठ काचरिया पीठाधीश्वर डॉ. जयकृष्ण देवाचार्य।

खबरें और भी हैं...