• Hindi News
  • National
  • बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों ने पनियाला जीएसएस पर दिया धरना

बिजली कटौती से परेशान ग्रामीणों ने पनियाला जीएसएस पर दिया धरना

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोटपूतली. पनियालाजीएसएस पर धरना दे रहे ग्रामीणों से चर्चा करते एसडीएम।

भास्कर न्यूज। कोटपूतली

पनियाला,चेचिका नांगल, मलपुरा, मोरदा, केशवाना, कालूहेड़ा, गोनेड़ा आदि गांवों में बिजली की अघोषित कटौति से गुस्साए ग्रामीणों ने शनिवार को पूर्व संसदीय सचिव रामस्वरूप कसाना की अगुवाई में पनियाला जीएसएस पर धरना दिया। ग्रामीणों का कहना था कि इस वक्त फसल की बुवाई का समय है। लेकिन बिजली निगम के अधिकारी केवल 1 या 2 घंटे ही बिजली देते हैं, जिसमें भी बार बार ट्रिपिंग होने से किसान परेशान हैं। पूर्व संसदीय सचिव रामस्वरूप कसाना ने किसानों की मांग को जायज ठहराते हुए बिजली निगम के अधिकारियों को आडे़ हाथों लिया। सूचना पर पहुंचे बिजली निगम के जेईएन संदीप सिहाग ने ग्रामीणों को अाश्वस्त किया कि उन्हें जिस मात्रा में जयपुर से बिजली मिलेगी उसमें वे किसी प्रकार की कटौति नहीं करेंगे लेकिन ग्रामीण उच्च अधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़ गए। सूचना पर एसडीएम सुरेश चौधरी, तहसीलदार भागीरथमल चौधरी, पनियाला एसएचओ विजेन्द्र सिंह पहुंचे। एसडीएम ने बिजली निगम के एसई बीएल जाट से वार्ता कर ग्रामीणों की समस्या से अवगत कराया। जिस पर बिजली निगम ग्रामीणो के बीच पांच सुत्रीय बिन्दुओं पर लिखित में समझौता होने पर धरना समाप्त किया गया। बिजली निगम के अधिकारियों ने ग्रामीणों को जीएसएस पर तैनात कार्मिक को हटाकर दूसरा लगाने, तीन फेस बिजली निर्धारित पांच घंटे दिए जाने, ग्रामीणों को जीएसएस पर स्थाई टेलीफोन नंबर 24 घंटे चालू रहने , बिजली सप्लाई की व्यवस्था दुरूस्त रखने लापरवाह कार्मिकों के खिलाफ कार्रवाई का लिखित में आश्वासन दिया। इस मौके पर पनियाला सरपंच रवीन्द्र मीणा, पूर्व सरपंच रामशरण, अशोक रावत पंसस मुखराम रावत, उपसरपंच नवीन शर्मा, जयनारायण धानका, इंद्राज आर्य, महेन्द्र शर्मा, सवाई पंच, धर्मपाल कसाना, हरीसिंह रावत, हंसराज आर्य, सुरेन्द्र शर्मा सहित अनेक ग्रामीण उपस्थित थे।

रोजानादस घंटे कटौती पर लोगों का फूटा गुस्सा

मैड़ | कुंडलेक्षेत्र की ग्राम पंचायतों सहित आसपास के गांव-ढाणियों में एक सप्ताह से लगभग दस घंटे से अधिक तक बिजली कटौती का सिलसिला अभी तक नहीं रूकने के मामले को लेकर शनिवार को लोगों ने प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जताया।

विरेन्द्र सिंह शेखावत, रामकिशोर सैन ने बताया कि कुंडले क्षेत्र के तेवड़ी, पूरावाला, जोधूला, तालवा, नौरंगपुरा, भामोद सहित अनेक गांव-ढाणियों में नियमित दस घंटे से अधिक बिजली कटौती के चलते लोगों को विकट समस्या का सामना करना पड़ रहा है। रामजीलाल पूरावाला ने बताया कि किसानों को बिजली नियमित नहीं मिलने से किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में दिन रात 15 घंटे तक भी अवैध बिजली कि कटौती के चलते किसानों कि सब्जियों कि पैदावार पूरी तरह से प्रभावित होकर खराब होती जा रही है। लोगों ने शीघ्र व्यवस्था सुधारने की मांग की। लोगों ने बताया कि राज्य सरकार के तहत जिन परिवारों के पास गैस सिलेण्डर उपलब्ध है उन्हे केरोसीन नहीं मिलता जिसके चलते लोगों को बिजली कटौती के दौरान दुविधा उठानी पड़ रही है।

^मैड़कुंडले में कई दिनों से दस घंटे से अधिक दिन रात बिजली की कटौती हो रही है जिसको लेकर अधिकारियों से बातचीत करने के बाद भी कोई सुधार नहीं हो रहा है मामले को लेकर उच्च अधिकारियों से वार्ता कि जावेगी। संतोषकुमार मोदी, सरपंच, मैड़

खबरें और भी हैं...