पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • आध्यात्मिक ऊर्जा का चैतन्य जगाने में साधना सहायक डॉ. सोनिया दीदी

आध्यात्मिक ऊर्जा का चैतन्य जगाने में साधना सहायक-डॉ. सोनिया दीदी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरोनाधाम के जोगणिया माता मंदिर में धर्मसभा

छोटीसरवा| आध्यात्मिकऊर्जा का चैतन्य जगाने में साधना सहायक है, जिसे साध्य बनाने के लिए साधना के साथ ही संत की अनुकंपा आवश्यक है। ऐसे में देवालयों में हमारी प्रेरणा को प्रस्फुटित करते हैं किंतु स्थापित देवी देवताओं की नित्य पूजा अर्चना, वंदन स्थान को चैतन्य बनाता है। ये विचार सोमवार को कुशलगढ़ के पाटन सरोनाधाम स्थित चौसठ जोगणिया माता मंदिर में आयोजित धर्मसभा में साध्वी डॉ. सोनिया दीदी ने व्यक्त किए।

सोनिया दीदी ने श्रद्धालुओं का आह्वान किया कि वे भारत की प्रभुता को बढ़ाने, संतों का सानिध्य उनके सत्संग के संस्कारों से अपनी संतति को पल्लवित करें। उन्हें शिक्षा के साथ साथ आध्यात्मिक ज्ञान का आलोक मिले, ऐसा जतन करे। सोनिया दीदी ने कहा कि चौसठ जोगणिया माता श्रद्धालुओं के संकल्प को सार्थक करने में सहायक बनती हैं, किंतु इसके लिए श्रद्धाभाव से वंदन आवश्यक है। उन्होंने कहा कि गौमाता को विश्व माता का दर्जा प्राप्त होना चाहिए। दीदी ने माताजी की पूजा अर्चना की।

इस दौरान मंदिर समिति के डॉ. मधुसूदन शर्मा ने दीदी को माताजी की प्रतिमा, साहित्य अौर एलबम भेंट किया। साथ ही चौसठ जोगणिया माताजी के इतिहास की जानकारी दी। धर्मसभा में जिला बाल कल्याण समिति सदस्य मधुसूदन व्यास, धर्मेंन्द्र कुमार, विरजी भगत, कमलसिंह सोलंकी, नाथूसिंह हरोड, रायचंद भाई, गोपालसिंह, लक्ष्मण भगत, पायल सोनी, पुजारी राजेश जोशी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...