11 राजपूत नेताओं...

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
11 राजपूत नेताओं...

मामलाउपनिरीक्षक शंभु सिंह की रिपोर्ट पर जसवंतगढ़ थाने में दर्ज किया गया है। इसकी जांच डिप्टी एसपी राजेंद्र प्रसाद दिवाकर को सौंपी गई है। एफआईआर में बताया गया है कि प्लाटून कमांडर राजेंद्र सिंह से मारपीट कर भीड़ ने 9 एमएम की सर्विस पिस्टल, 10 कारतूस एवं मोबाइल छीन लिए। एसपी परिस देशमुख के साथ मौजूद गनमैन से हथियार, एके 47 मय 30 कारतूस एवं मैग्जीन, पिस्टल 9 एमएम मय 15 कारतूस एवं मैग्जीन, पीटीएच आठ राउंड, एक पंप एक्शन गन 25 राउंड मय मैग्जीन भीड़ छीनकर ले गई। सांवराद के इस घटनाक्रम को लेकर आनंदपाल की बड़ी बेटी चीनू एवं अधिवक्ता एपी सिंह की भूमिका को भी पुलिस ने गंभीर माना है। उन पर आरोप है कि एक सोची समझी साजिश के तहत वे घटनाक्रम को उत्प्रेरित कर रहे थे। बार-बार चीनू द्वारा एपी सिंह की सलाह पर शव का अंतिम संस्कार नहीं करने से संबंधित निर्देश भीड़ को दिए जा रहे थे। पुलिस ने लूट, हत्या के प्रयास, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, हथियार लूटने, आगजनी और आपराधिक षड्‌यंत्र सहित 22 विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया। इनमें कई धाराएं गैर जमानती हैं।

उच्चशिक्षा मंत्री...

जबये घटना हुई, उस समय जेएनवीयू के एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में बने इन्क्यूबेशन सेंटर का उद्‌घाटन कार्यक्रम चल रहा था। मंत्री, कुलपति कुलसचिव कुर्सी पर बैठे थे। इसी दौरान खरताराम वीसी के पास पहुंचा और थप्पड़ जड़ दिए। एबीवीपी के छात्रनेता भूपेंद्रसिंह सांकड़ा ने लपक कर खरताराम को पकड़ा और उसकी पिटाई कर दी।

मोघेछोटे करने पर गुस्साएं किसानों...

तहसीलमें ऐहतियातन धारा 144 लगा दी गई है। प्रशासनिक अधिकारी देर रात तक किसानों से बातचीत का प्रयास करने में लगे थे। गौरतलब है कि आंदोलनरत में शामिल होने के लिए आसपास के गावों के किसान आवारा पशुओं के साथ सुबह लूणकरणसर तहसील के पास इकट्ठा हुए थे। किसानों ने विरोधस्वरूप हाइवे भी जाम किए जिसे पुलिस ने खुलवाया। दोपहर करीब तीन बजे किसान पशुओं को लेकर तहसील कार्यालय में घुसे तो पुलिसकर्मियों से टकराव हुआ।

एसडीएमकार्यालय पर प्रदर्शन आज

अखिलभारतीय किसान सभा के का. लालचंद भादू ने बयान दिया कि शनिवार को किसान कृषि मंडी में सुबह 11 बजे एकत्रित होंगे। इसके बाद एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन करेंगे। प्रदर्शन में पूर्व विधायक हेतराम बेनीवाल श्योपत मेघवाल भी शामिल होंगे।

^लूणकरणसर तहसील में ऐहतियात के तौर पर धारा 144 लगाई गई है। किसानों से बातचीत के प्रयास किए जा रहे हैं। उनके प्रतिनिधियों को मैसेज करवाया गया है। अनिलगुप्ता, जिला कलेक्टर बीकानेर

^पशुओंको लेकर तहसील कार्यालय में घुसे किसानों को रोका तो उन्हों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं और सरकारी गाड़ियां भी क्षतिग्रस्त हुई। पुलिस ने बल प्रयोग कर किसानों को खदेड़ा। लूणकरणसर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। सवाईसिंहगोदारा, एसपी बीकानेर

खबरें और भी हैं...