पति को देख भड़के पार्षद

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पति को देख भड़के पार्षद

एसडीएमने अध्यक्ष के पति को घर भेजा- सूचना मिलने पर पालिका कार्यालय पहंुचे एसडीएम ने ईओ के कक्ष में अध्यक्षा सपना टेमाणी से चर्चा की इस दौरान अध्यक्षा के पति भी साथ पहंुचे। एसडीएम द्वारा पालिकाध्यक्ष से चर्चा के दौरान पालिका नियमानुसार कार्य कर पार्षदों नागरिकों को संतुष्ट करने की सीख दी जा रही थी तथा पालिका कार्यालय में पति के हस्तक्षेप को गैरकानूनी बताते हुए शहर प्रमुख की हेसियत से नियमों के अनुसार ईओ के सहयोग से सभी लोगों के काम काज निष्पक्षता से करना जरूरी बताया जा रहा था इसी दौरान बाहर धरने पर बैठे पार्षदों का दल ईओ कक्ष में पहंुचा जहां अध्यक्षा के पति को देख कर भडक गए पार्षद रविकुमार जैन एडवोकेट ने अध्यक्षा के पति को वहां बैठना गैरकानूनी बताते हुए उनको पकड कर बाहर निकालने के लिए खींचने का प्रयास किया लेकिन वहां मौज्ूद एसडीएम ईओ ने बचाव कर शांती बनाए रखने की अपील की एसडीएम की समझाइस के बावजूद पालिकाध्यक्षा के पति उन्हें अकेले कार्य कराने पर सहमति नहीं जताई एसडएीम ने उन्हें बताया कि पार्षदों में पति के कारण गंभीर नाराजगी है इसे मूंछ की लडाई नहीं बनाएं , पालिका बोर्ड ही सर्व सम्मत है बोर्ड बैठक के निर्णय अहमियत रखते है करीब एक घंटे समझाइस के बाद एसडीएम ने अध्यक्षा सपना टेमाणी के पति को घर के लिए पुलिस के साथ रवाना किया

पार्षदोंने अध्यक्ष की नकारा कार्यशैली के विरोध में एसडीएम को ज्ञापन दिया:आंदोलित पार्षदोंने पालिकाध्यक्ष सपना टेमाणी की नकारा कार्यशैली के विरोध में एसडीएम को एक ज्ञापन दिया भाजपा पार्षद सुभाष गालव , रविकुमार जैन एडवोकेट, उपाध्यक्ष पुरूषोत्तम सैनी एडवोकेट, राजकुमार जैन , युधिष्ठर सिंधी, श्योजीराम शर्मा,सोनू माली, राजेंद्र कुमार , शशि जैन एडवोकेट,सुरेंद्र सिंह सहित सभी दलों के मरगूब अहमद , मनीषा ,चेनतारा , मोहम्मद शाकीर,जाकेरा बानो, मायादेवी ,अनामुलहक, सीताराम टेलर , ओमप्रकाश सहित अन्य पार्षदों के हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन में अवगत कराया गया है कि नगर पालिका बोर्ड बने एक साल हो चुका इस बोर्ड द्वारा पारित किसी भी निर्णय के प्रस्ताव की पालना नहीं की है ना ही एक वर्ष के कार्यकाल दौरान कोई विकास निर्माण कराया गया है ज्ञापन में लिखा है कि पालिकाध्यक्ष की कार्यशैली हठधर्मिता ,मानाशाही पूर्ण रही है जिससे मालपुरा की आमजनता को किसी तरह की कोई राहत नहीं मिली है इसकी कार्यशैली से मालपुरा के समस्त पार्षदगण आमनजता परेशान है ज्ञापन में बताया है कि नगर पालिकाध्यक्ष द्वारा नगरपालिका की गोपनीय पत्रावलियां अवैध रूप से नियमविरूद्ध घर पर लेजाकर रखली जाती है जिनके बारे में बाजारों में चर्चा होती है गोपनीयता भंग हो रही है

खबरें और भी हैं...