पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • कैंटीन में कैशलेस स्कीम अनिवार्य नहीं करने की मांग

कैंटीन में कैशलेस स्कीम अनिवार्य नहीं करने की मांग

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग, छात्रों ने कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन

भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

डॉ.अंबेडकर स्टूडेंट फ्रंट ऑफ इंडिया ने सोमवार को आक्रोश रैली निकाल कर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। इसके बाद बुडानिया कुहाड़वास गांव की नाबालिग बालिकाओं के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के सभी दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग पर विरोध प्रदर्शन कर कलेक्टर प्रदीप कुमार एसपी सुरेंद्र कुमार गुप्ता को ज्ञापन सौंपा गया। इससे पहले अंबेडकर पार्क से कलेक्ट्रेट तक आक्रोश रैली निकाली गई। ज्ञापन में कहा गया है कि जल्द कार्रवाई नहीं होने पर छात्र संगठन की ओर से आंदोलन किया जाएगा। इस दौरान जिलाध्यक्ष अक्षय भूरिया, महासचिव निखिल सोनी, जिला उपाध्यक्ष अजय काला, संजीव सिंघल, प्रमोद, राजेश, इकरार, विक्रम, अरविंद कुमार, सुनिल चोपड़ा, कल्पित भूरिया, विक्की दानोदिया आदि छात्र मौजूद थे।

इधर, अंबेडकर अत्याचार विरोधी संयुक्त संघर्ष समिति की ओर से बसपा नेता गुलामनबी आजाद की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट पर क्रमिक अनशन जारी रहा। उन्होंने कहा कि एससी एसटी समाज की बालिका महिला के दुष्कर्म के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। संयोजक गिरधारीलाल कटारिया ने कहा कि पुलिस को आमजन में विश्वास कायम रखने के लिए आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उदयपुरवाटी के पूर्व विधायक रणवीरसिंह गुढ़ा ने अनशन पर बैठे जनप्रतिनिधियों से मामले की जानकारी ली। इस दौरान जमालुद्दीन, आमीन, बाबूलाल, देवेंद्र, जोरावरसिंह, रामेश्वरलाल कल्याण, महिपाल, निर्मल कल्याण, मोलीराम वर्मा, रामनिवास भूरिया, कैलाश मेघवाल, देवकरणसिंह, सुभाषचंद्र, किशनलाल, बसपा जिलाध्यक्ष बंशीधर भीमसरिया, संदीप कालिया, मदनलाल, भूपेंद्र, सांवरमल, सोहनलाल मौज्ूद थे।

मलसीसर. सरकारी कॉलेज की मांग पर एसएफआई ने फूंका शिक्षा मंत्री का पुतला।

झुंझुनूं. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अंबेडकर स्टूडेंट फ्रंट ऑफ इंडिया के छात्रों ने किया कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन।

मलसीसर. सरकारीकॉलेज खुलवाने की मांग पर सोमवार को एसएफआई कार्यकर्ताओं ने शिक्षा मंत्री का पुतला फूंका। इससे पहले तहसीलदार जीतुराम मीणा को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। जिला महासचिव अरविंद गढ़वाल ने कहा कि तहसील में सरकारी कॉलेज नहीं खुला तो छात्र सड़कों पर उतरकर लड़ाई लड़ेगी। जिला उपाध्यक्ष जयवीरसिंह ने कि मंडावा विधायक नरेंद्र कुमार ने युवाकों को सरकारी कॉलेज का सपना दिखाकर चुनाव लड़ा था। चुनाव जीतने के बाद विधायक अपना वादा भूल गए। वक्ताओं ने कहा कि क्षेत्र में ज्यादातर किसान मजदूर वर्ग के लोग रहते हैं। सरकारी कॉलेज नहीं होने से इन्हें उच्च शिक्षा से वंचित रहना पड़ता है। इस अवसर पर प्रवीण दूराना, विक्रम कुमावत, नरपतसिंह, आकाश डांगी, सुनिल बिजारणिया, सुमित, इरशाद, पवन कुमावत, आदिल खान, गोविंद शेखावत सहित एसएफआई के अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

झुंझुनूं. पूर्वसैनिकों ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर सीएसडी कैंटीन में कैशलेस अनिवार्य नहीं करने की मांग की है। पूर्व सैनिक परिवार संगठन संयोजक कैप्टन मोहनलाल के नेतृत्व में सौंपे ज्ञापन में बताया कि सीएसडी कैंटीन को कैशलेस बनाया जा रहा है। जबकि सीएसडी कैंटीन में सामान खरीदने के लिए पूर्व सैनिक एवं उनके परिजन आते हैं। बुजुर्ग पूर्व सैनिकों के लिए परेशानी होगी। पूर्व सैनिकों ने ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक में स्पेशलिस्ट डॉक्टर लगाने, सैनिक विश्रामगृह के किराए कैंटीन प्रोफिट का कुछ हिस्सा सैनिक कल्याण में लगाने की मांग की। प्रतिनिधि मंडल में सीपीओ रामदेव, कैप्टन अमरचंद रामनिवास, कैप्टन श्रीनिवास, सूबेदार दयासिंह, शमशेर, उम्मेद खान, हवलदार हरिसिंह, घासीराम, मदनलाल, विजय पूनिया, लियाकत अली समेत अनेक पूर्व सैनिक थे।

खबरें और भी हैं...