पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • रेलवे बोर्ड के आदेश के खिलाफ किया प्रदर्शन

रेलवे बोर्ड के आदेश के खिलाफ किया प्रदर्शन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | मेड़ता रोड

रेलवेबोर्ड द्वारा संरक्षा श्रेणी के सुपरवाइजर को यूनियन में पदाधिकारी पद से तुरंत हटाने के आदेश के खिलाफ उत्तर पश्चिम रेलवे मजदूर संघ के सदस्यों ने ट्रेनों के आगमन-प्रस्थान के समय नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

रेलवे बोर्ड ने एक आदेश सभी जोन महाप्रबंधकों को जारी करते हुए कहा था कि संरक्षा श्रेणी के सुपरवाइजर को यूनियन के पदाधिकारी पद से हटवा दें। ताकि संरक्षा सुरक्षा किसी प्रकार से प्रभावित नहीं हो। रेलवे की यूनियन ने इस आदेश के विरुद्ध 6 फरवरी को विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शन किया। रेलवे बोर्ड ने हाल ही में एक आदेश जारी किया कि रेलवे की यूनियनों में संरक्षा श्रेणी के सुपरवाइजर पदाधिकारी के पद पर नहीं रह सकते है। इसके लिए यूनियन के आला पदाधिकारियों से कहा गया है कि वे अपने संगठन में ऐसे सुपरवाइजरी को तुरंत संगठन से मुक्त कर दे। इसके लिए 31 मार्च की समय सीमा तय की गई है। इसके बाद ऐसे कर्मचारी यूनियन के सदस्य तो रह सकेंगे लेकिन पदाधिकारी नहीं होंगे। रेलवे बोर्ड डिप्टी डायरेक्टर निर्मला यू. र्तिकी ने सभी महाप्रबंधक को जारी निर्देश में कहा है कि लगातार ट्रेन हादसों से एक बार फिर से संरक्षा पर पूरा फोकस करने की स्थिति बन गई है।

ऐसे आदेश के विरुद्ध मेड़ता रोड में उत्तर पश्चिम रेलवे मजदूर संघ शाखा अध्यक्ष जोगाराम, सचिव गोपाल लाल मीणा, सयुंक्त सचिव भूरसिंह मीणा, मुनेश मीणा, पप्पूसिंह, अशोक कुमार, गार्ड बुंदू खां, घनश्यामसिंह सहित बड़ी संख्या में रेलकर्मियों ने कालका, रणकपुर एक्सप्रेस, सालासर एक्सप्रेस आदि ट्रेनों के आगमन-प्रस्थान के समय सदस्यों ने नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किया। अध्यक्ष सचिव ने बताया कि यूनियन में औसतन 70 प्रतिशत सेफ्टी कर्मचारियों को जेई/एसएसई को यूनियन पद से हटाने की सरकार की साजिश है। रेलवे बोर्ड यूनियन में कार्य करने के लिए कोई भी सरकार हमें रोक नहीं सकती, यह संविधान के मूलभूत अधिकारों के खिलाफ है। यह ट्रेड यूनियन एक्ट का भी उल्लंघन है। इसका पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

मेड़ता रोड. यूपीआरएमएस यूनियन के द्वारा विरोध प्रदर्शन करते हुए सदस्य।

खबरें और भी हैं...