• Hindi News
  • National
  • खुलासा: 10 माह से स्कूल नहीं गया शिक्षक 2 हजार में किराए का अध्यापक लगा दिया

खुलासा: 10 माह से स्कूल नहीं गया शिक्षक 2 हजार में किराए का अध्यापक लगा दिया

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जांच में शिकायत सही मिली, एवजी भाग खड़ा हुआ

भास्कर न्यूज| कोटा / खैराबाद

राज्यसरकार की सख्ती के बाद भी शिक्षा विभाग में डेपुटेशन के नाम पर धांधली की जा रही है। स्थिति यह है कि खैराबाद सीनियर स्कूल में नियुक्त मैथ्स टीचर धैर्य रतन शर्मा ने गांव के ही एक बेरोजगार युवक को अपनी जगह पढ़ाने के लिए लगा दिया है। भास्कर संवाददाता ने जब बेरोजगार युवक सुरेंद्र से इस बारे में पूछा, तो उसने भी बात स्वीकारी। वहीं, खैराबाद प्रधान भगवानसिंह धाकड़ ने भी सीनियर टीचर द्वारा इसे एवजी लगाने का आरोप लगाते हुए शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों को शिकायत भिजवा दी है। उन्होंने बगैर परमिशन के युवक के स्कूल में पढ़ाने की जांच करने की मांग करते हुए शिक्षक को पाबंद करने की मांग की है। सीनियर टीचर धैर्य रतन का कहना है कि सभी आरोप गलत है।

मामला उजागर होने के बाद विभाग में हड़कंप मच गया। प्रधान भगवान सिंह धाकड़, खैराबाद भाजपा मंडल अध्यक्ष जुगराज सिंह शनिवार को स्कूल पहुंचे। डेपुटेशन पर शिक्षक को लगाने और दूसरे युवक को यहां पढ़ाने की बात पूछी तो प्रिंसिपल कमलेश शर्मा ने कहा कि उसने अभी ज्वाइन किया है। युवक पिछले समय से यहां पढ़ा रहा है। शाला समिति की ओर से उसे कोई वेतन नहीं दिया जा रहा है। बेरोजगार युवक ने भास्कर को बताया कि उसे दो हजार रुपए प्रति महीने के हिसाब से शिक्षक धैर्य रतन ने वैदिक गणित पढ़ाने के लिए लगाया है, लेकिन तीन महीने का वेतन नहीं मिला है। बाद में उसने इसे नकार दिया। बोला कि जुलाई से मेरी इच्छा से बच्चों को पढ़ा रहा हूं।

पहले घपला नहीं पकड़ा, अब हड़कंप

^इससंबंध में शिकायत मिली है। सरकार से डेपुटेशन बंद किया हुआ है। एसडीएमसी की परमिशन के बिना किसी को स्कूल में नहीं लगाया जा सकता है। इस संबंध में कोताही बरतने मामले की जांच करवाई जाएगी। संबंधित शिक्षक को मूल स्थान पर भिजवा दिया जाएगा। नरेंद्रकुमार गहलोत, शैक्षिक प्रकोष्ठ अधिकारी माध्यमिक

^यहमामला सामने आया है। विभाग में डेपुटेशन बंद है। यदि किसी को एवजी में लगाया है तो इस संबंध में कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच करवाएंगे। अजीतलुहाड़िया, सहायक निदेशक माध्यमिक शिक्षा

^विभागको पत्र लिखकर गणित के टीचर धैर्य रतन शर्मा को स्कूल में नियुक्त करने के लिए कहा है। मेरे स्कूल में ज्वॉइन करने के पहले से ही कोई युवक स्कूल में वैदिक गणित पड़ा रहा था, मेरी जानकारी में युवक द्वारा निशुल्क सेवा देने की बात कही गई थी, और कोई जानकारी मुझे नहीं है। कमलेशशर्मा, प्रिंसिपल खैराबाद स्कूल

मोड़क स्टेशन.खैराबाद स्कूल में जानकारी लेते प्रधान भगवान सिंह धाकड़।

खबरें और भी हैं...