पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • मातासुख फिल्टर प्लांट और कोयला खान का निरीक्षण

मातासुख फिल्टर प्लांट और कोयला खान का निरीक्षण

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर ने मौके पर पहुंचकर लिया जायजा

भास्करन्यूज |जायल

नागौरकलेक्टर राजन विशाल ने गुरुवार को मातासुख पहुंच कर लिग्नाइट परियोजना फिल्टर प्लांट का निरीक्षण किया गया। इस दौरान जलदाय विभाग के अधिकारी भी साथ थे। फिल्टर प्लांट पहुंच में उन्होंने पानी की गुणवत्ता को लेकर जलदाय विभाग के अधिकारियों प्लांट में काम करने वाली कंपनी के प्रतिनिधियों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कम पानी उत्पादन को लेकर खान कर्मचारियों पर नाराजगी जाहिर की तथा मौके पर पानी की उपलब्धता बढ़ाने पर जोर दिया गया। कलेक्टर के आने की पहले से सूचना हो जाने के कारण फिल्टर प्लांट रास्ते में डस्ट की जगह पहले से ही खान विभाग ने तैयारियां कर रखी थी। सभी कर्मचारियों को पूर्व में सतर्क कर रखा था। करीब दो घंटे तक दोनों जगह भ्रमण करने के बाद वे नागौर के लिए रवाना हो गए। कलेक्टर राजन विशाल ने निरीक्षण के दौरान विशेष रूप से फिल्टर प्लांट में सही तरीके से काम करने पर जोर दिया गया। उन्होंने जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता जयसिंह चौधरी से पूरी परियोजना की विस्तृत जानकारी ली गई, पूरी योजना को लेकर संचालन के संबंध में चर्चा की गई।

कलेक्टर सुबह दस बजे ही सीधे फिल्टर प्लांट पहुंचे। उन्होंने जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता जयसिंह चौधरी अधिशासी अभियंता शिंभू दयाल के साथ पूरे प्लांट को भ्रमण किया गया। पूरे फिल्टराइजेशन प्रक्रिया की स्पष्ट जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने खान से बहकर आने वाले पानी के संबंध में विस्तृत चर्चा की। उन्होंने योजना के तहत पानी की शुद्धता को लेकर विस्तार से जानकारी ली गई। इसके बाद वे लिग्नाइट परियोजना में पहुंचे। वहां उन्होंने लिग्नाइट परियोजना का निरीक्षण किया। मौके पर तैनात कर्मचारियों से विचार-विमर्श किया। इसके बाद उन्होंने खान श्रमिकों के स्वास्थ्य सुरक्षा के बारे में जानकारी ली।

पानी की उत्पादन क्षमता बढ़ाने पर जोर

कलेक्टरविशाल ने मातासुख योजना में काम कर रही कंपनी नागौर वाटर सप्लाई के कर्मचारियों से पानी के उत्पादन के संबंध में चर्चा की गई। इस दौरान कंपनी के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर को बताया कि आरएसएमएमएल ने की ओर से कंपनी को पानी की उपलब्धता नहीं हो रही है। इस कारण जलदाय विभाग की जरूरत के अनुरूप पेयजल उपलब्ध नहीं हो रहा है। इस पर मौके पर ही कलेक्टर ने खान प्रबंधक महिपाल जुगत