पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पेज एक का शेष...

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सुप्रीमकोर्ट के निर्देश पर पिछले महीने यह सूची दोबारा एसआईटी को दी गई। विदेशी बैंकों में भारतीयों की जमा काली कमाई 63 लाख करोड़ रुपए तक बताई जा रही है।

खाकीवर्दी के ...

खाकीवर्दी देखकर गांव के लोगों ने विरोध नहीं किया। बालक का पिता रात से ही खेत पर था। इसका पता चलने पर उसने अपने स्तर पर प्रयास करने शुरू कर दिए। उसने अकलेरा क्षेत्र के सनखेड़ी गांव निवासी बिचौलिए भैरूलाल मीणा के माध्यम से बालक को छुड़वाने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बनती देखकर दोपहर 3 बजे उसने पुलिस को रिपोर्ट दी। इसके बाद बिचौलिए से अपहरणकर्ताओं के मोबाइल नंबर लेकर ट्रेस करवाया। इस दौरान बिचौलिए से यह बात भी करवाई कि रुपयों की व्यवस्था हो गई है, कहां पर लेकर आने हैं। उन्होंने रुपए कोटा लेकर आने का झांसा भी दिया, जबकि मोबाइल कि लोकेशन ट्रेस करने पर उनके हनुमानगढ़ से करीब 25 किमी दूर रोड पर होने का पता चला। इस पर एसपी राहुल बारहट ने हनुमानगढ़ के एसपी से बात कर कार्रवाई करने को कहा। इस पर रात में करीब 10 बजे अपहरणकर्ताओं को दबोचकर बालक नरेश को उनके चंगुल से बचा लिया। यहां से अकलेरा सीआई भंवरसिंह और जावर एसएचओ वासुदेव सिंह के नेतृत्व में दाे टीमें रवाना की गई थीं, जो उन बदमाशों को और बालक को सुरक्षित लेकर गई।

बालकको 7 घंटे में मुक्त करवाया: मनोहरथानाडीएसपी बोहरा ने बताया कि बालक अगवा होने का पता चलने पर करीब 7 घंटे प्रयास कर उसे उसी दिन अपहरणकर्ताओं के चंगुल से मुक्त करवा लिया गया। एसपी ने उनकी लोकेशन सर्च कराने समेत हनुमानगढ़ जिले के एसपी से बातचीत कर नाकाबंदी करवाई। यदि में इसमें कुछ और देर हो जाती तो बदमाश पंजाब में निकल जाते, लेकिन तत्परता के कारण अपहरणकर्ताओं के मंसूबे धरे रह गए।

कचराडलवाया, फिर ...

यहकार्यक्रम इंडिया इस्लामिक सेंटर ने ही रखा था। बताया जाता है कि सेंटर के बाहर का इलाका पहले से ही साफ था। चूंकि स्वच्छ भारत अभियान का कार्यक्रम होना था और नेताओं की शिरकत होनी थी इसलिए वहां कचरा डाला गया। तस्वीरों में देखा जा सकता है कि कुछ सुरक्षाकर्मी कूड़ेदान वाली गाड़ी से कचरा गिराकर उसे फैला रहे हैं। बाद की तस्वीरों में उपाध्याय और शाजिया को वहां झाडू लगाते हुए फोटो खिंचवाते देखा जा सकता है।

कांग्रेस नेता जेपी अग्रवाल ने कहा, ‘सतीश उपाध्याय को पद से इस्तीफा दे देना चाहिए’। जबकि