पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गुरुद्वारों में अखंड पाठ, मत्था टेका

गुरुद्वारों में अखंड पाठ, मत्था टेका

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मांड राग में गूंजे लोकगीत, भवई नृत्य ने बांधा समा

कोलायत मेले में युवक लापता

देवालयों पर सजी दीपमालाएं, धार्मिक अनुष्ठान हुए

सिक्खोंके पहले गुरु नानकदेवजी की जयंती पर गुरुवार को गुरुद्वारा सिंह सभा खाजूवाला में प्रकाशोत्सव मनाया गया। गुरुद्वारा सिंह सभा रावला तिराहा खाजूवाला में तीन दिवसीय धार्मिक कार्यक्रम के साथ गुरुवार को श्री अखण्ड पाठ पर प्रकाश भोग डाला गया। साध-संगत ने गुरुद्वारे में मत्था टेककर मन्नते मांगी। ज्ञानी गुरविंद्र सिंह जैतसर वाले द्वारा गुरु ग्रंथ साहिब के शब्दों से साध-संगत को निहाल किया। अपैक्स बैंक जयपुर के डायरेक्टर भागीरथ ज्याणी ने गुरुद्वारा सिंह सभा में जाकर मत्था टेका। गुरुद्वारा सभा के प्रधान गुरमेल सिंह सैनी, हरपालसिंह गिल, डॉ. जशवंतसिंह चंदी, डॉ. बलकरणसिंह मान, डॉ. जेएस संधु, जगविंदर सिंह सिद्धू, बलदेवसिंह बराड़, मंगलसिह मंकू, जगसीर सिंह, रामसिंह, सिमरनजीत सिंह भोला आदि ने व्यवस्थाओं में सहयोग किया। इस अवसर पर अटूट लंगर बरताया गया। संजीवनी क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसायटी द्वारा गुरुद्वारा सिंह सभा में सर्व जल पिलाकर सेवाएं दी गई।

नोखासंवाददाता के अनुसार गुरुवारको लव फन लर्न स्कूल में गुरुनानक जयंती मनाई गई। प्रधानाचार्य नवदीप जैड़का ने बच्चों को गुरुनानक देवजी के बारे में जानकारी देते हुए भजन सुनाए। इस अवसर पर फुटबाल प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया।

लूणकरणसरसंवाददाता के अनुसार सिक्खसमुदाय के प्रथम गुरु नानकदेवजी का 534वां प्रकाशोत्सव कस्बे के गुरुद्वारे में गुरुवार को मनाया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में पहुंचे सिक्ख समुदाय के लोगों ने गुरुद्वारे में मत्था टेकर मन्नतें मांगी और धर्मसभा में शामिल हुए। बड़ी संख्या में सेना के जवान भी गुरुद्वारे में मत्था टेकने पहुंचे।

कोलायतसंवाददाता के अनुसार सिक्खसमुदाय के प्रथम गुरु गुरुनानक देव का प्रकाश पर्व गुरुवार को गुरुद्वारों में धूमधाम से मनाया गया। रागी जत्थों ने शब्द-कीर्तन के माध्यम से गुरुनानक देव के जीवन पर प्रकाश डाला। पूर्णिमा के साथ ही प्रकाश पर्व होने के कारण पंजाब सहित अलग-अलग स्थानों से सिख समुदाय के लोग कोलायत पहुंचे। जहां उन्होंने गुरुद्वारे में जाकर मत्था टेक परिवार के लिए सुख शांति की प्रार्थना की। इस अवसर पर नानक साहब की झांकी भी निकाली गई। जिसमें बड़ी संख्या में समाज क