पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पूर्णिमा पर मंदिरों में श्रद्धालुओं का सैलाब

पूर्णिमा पर मंदिरों में श्रद्धालुओं का सैलाब

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | चौमू / हिरनोदा

चौमूसहित आसपास के क्षेत्र में गुरुवार को कार्तिक पूर्णिमा पर मंदिरों में कई धार्मिक कार्यक्रम हुए। हिरनोदा के धार्मिक स्थल भंदे बालाजी मंदिर, श्रीराम मंदिर, गणेश मंदिर, रघुनाथ मंदिर में कार्तिक माह में स्नान करनी वाली महिलाओं युवतियों का दिनभर मंदिर में तांता लगा रहा। महिलाओं ने मंदिर में दर्शन कर प्रसाद चढ़ाया तथा बालाजी के मंदिर की परिक्रमा कर सुख-समृद्धि की कामना की।

सांभरलेक|कस्बेमेें देवयानी तीर्थ स्थल पर सैकड़ों लोगों ने देवयानी पर बने कुंड में डुबकी लगाई और मंदिरों के दर्शन कर भगवान से मनोकामना पूरी होने का आशीर्वाद लिया तथा दान पुण्य किए।

बिचून|कस्बेकेदादू दयाल मुक्ति धाम भैराणा स्थान पर महंत रामबल्लभ दास महाराज के सान्निध्य में पूर्णिमा महोत्सव मनाया। दादू वाणी पुस्तक की झांकी सजाई गई और भंडारे का आयोजन किया गया।

हिंगोनिया|कस्बेसहित क्षेत्र के भोजपुरा, मुरलीपुरा, जोरपुरा-सुंदरियावास, कुड़ियों का बास, गुढ़ामान, लोहरवाड़ा, बेणियां का बास सहित सभी गांवों में एक माह से कार्तिक स्नान करने वाली महिलाओं ने मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की। श्रद्धालुओं ने आसपास के तीर्थ स्थलों पर जाकर स्नान कर दान-पुण्य किया। मंदिरों में प्रतिमाओं को आकर्षक रूप से सजाया गया।

सावरदा|सावरदा,गिदानी, चंद्रमूल, अखैपुरा, महेशपुरा आदि आस पास के गांवों में कार्तिक स्नान करने वाली महिलाओं ने दान किया शाम को दीपदान किया। इस अवसर पर विभिन्न प्रकार की झांकियां सजाकर रोशनी की मन्दिरों में देव दीपावली सहित विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

फुलेरा|कस्बेआसपास के क्षेत्र के मन्दिरों में धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। रेलवे शिव मन्दिर, सब्जी मंडी स्थित गोविन्द देवजी मंदिर, सियाराम बाबा की बगीची, कूकू बाबा की बगीची आदि मंदिरों में धार्मिक कार्यक्रम फूलों की झांकी सजाकर महाआरती हुई। कार्तिक स्नान करने वाली महिलाओं कन्याओं ने पूजा-अर्चना कर उपवास रखा। वहीं कार्तिक पूर्णिमा के अबूझ सावे पर कस्बे में भीड़ भाड़ रही। दिनभर बरातों की आवाजाही रही सब्जी मंडी में फ्लावर डेकोरेटरों ने दूल्हे की गाड़ियों को सजाया।

जालसू|कस्बेसहित देवगुढ़ा, मोड़ी, बावड़ी, प्रतापपुरा, मुकुन्दपुरा, बरना, टाड़ावास सहित आसपास के गांवों में गुरुवार को देव आराधना के पवित्र का