पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यहांडेढ़ साल पहले ब

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
डेढ़ साल पहले 4.25 करोड़ से बनाई थी सड़क, 16 महीने की गारंटी बची है, फिर उसी पर 2.5 करोड़ रुपए से गौरव पथ बना रहा पीडब्ल्यूडी, जबकि 2 रोड सालों से उधड़े पड़े


यहांडेढ़ साल पहले बनी गारंटी पीरियड वाली सड़क को ही गौरव पथ के लिए चुन लिया गया। जबकि तीन मार्ग ऐसे हैं जहां सड़कें जर्जर हैं और वहां पर गौरव पथ बनना जरूरी था, लेकिन जो सड़क अभी गारंटी पीरियड में चल रही है, उसी पर गौरव पथ बनाया जा रहा है।

सवा चार करोड़ रुपए की सड़क पर फिर से ढाई करोड़ की सड़क बनाई जाएगी। अभी यह सड़क तीन साल और चल सकती है। पिड़ावा से लक्ष्मीपुरा मध्यप्रदेश की सीमा तक 17 किमी सड़क का निर्माण 5 मई 2015 को ही पूरा हुआ है। अभी यह सड़क तीन साल के लिए गारंटी पीरियड में चल रही है यानी इस सड़क पर नुकसान हुआ तो उसको ठीक करने की जिम्मेदारी अभी ठेकेदार पर ही है। इसको दरकिनार करते हुए पीडब्ल्यूडी ने इसी सड़क को गौरव पथ निर्माण के लिए चुन लिया। अब हालात यह है कि अच्छी भली सड़क को खोदा जा रहा है। सड़क का निर्माण 425 लाख रुपए की लागत से हुआ था। जबकि अभी गौरव पथ बनाने में इस पर ढाई करोड़ रुपए खर्च होने हैं। इस सड़क के गारंटी पीरियड को पूरा होने में 16 महीने बचे हुए हैं।

इन मार्गों पर गौरव पथ की ज्यादा जरूरत

पुरानेकोटड़ी रोड से नए पशु चिकित्सालय, अमरदीप पेट्रोल पंप से गोदाम नाके पर गौरव पथ की जरूरत अधिक है। यह भी कस्बे के मुख्य मार्ग हैं और बुरी तरह क्षतिग्रस्त हैं। सालों से यह मार्ग बने भी नहीं हैं। इन मार्गों पर गौरव पथ बनने चाहिए थे, लेकिन पीडब्ल्यूडी ने इन जर्जर सड़कों को छोड़कर गौरव पथ के लिए अच्छी सड़क का चयन कर लिया।

िनयमानुसारही बनवा रहे हैं: लोनिवि

^गारंटीपीरियड वाली सड़क पर मात्र 300 मीटर तक ही चौड़ा करके गौरव पथ बना रहे हैं। इसको नियमानुसार उखाड़कर ही बनाया जा रहा है। राकेशदीक्षित, कार्यवाहक एईएन, लोक निर्माण विभाग

खबरें और भी हैं...