• Hindi News
  • National
  • पद्मावती फिल्मांकन का किया विरोध प्रदर्शन

पद्मावती फिल्मांकन का किया विरोध प्रदर्शन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फिल्मनिर्माता संजय लीला भंसाली द्वारा ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ कर जनभावनाओं को आहत पहुंचाने के विरोध में सोमवार को पोकरण राजपूत समाज के लोगों ने एसडीएम मूलसिंह राजावत के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।

उन्होंने ज्ञापन में बताया कि फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली द्वारा पद्मावती नाम से चिताड़ की पूर्व महारानी पद्मावती के विषय पर एक फिल्म का निर्माण किया जा रहा है। जिसमें ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ कर रानी पद्मावती को मुगल आक्रांता अलाउदीन की प्रेमिका के रूप में चित्रित कर उनकी गरिमा से खिलवाड़ कर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का कुत्सित प्रयास किया है। जिसे हिंदुस्तान का कोई भी नागरिक बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने मांग की है कि इस प्रकार की फिल्म का निर्माण करवाने वाले फिल्मकार संजय लीला भंसाली को पाबंद कर कठोर कार्रवाई की जाकर जनभावनाओं का सम्मान किया जाए। ज्ञापन देने वालों में राजपूत सेवा समिति पोकरण अध्यक्ष राणीदानसिंह, नरपतसिंह, रूपसिंह, बलवंतसिंह, गायड़सिंह सहित कई समाज के लोगों के हस्ताक्षर है। इसी प्रकार भणियाणा में फिल्मकार संजय लीला भंसाली के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। भणियाणा में राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने फिल्मकार संजय लीला भंसाली का पुतला फूंका नारेबाजी कर मुख्यमंत्री के नाम कार्यवाहक भणियाणा तहसीलदार पदमाराम को ज्ञापन सौंपा गया। राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने कहा कि राजस्थान के गौरवशाली इतिहास के साथ फिल्मकारों द्वारा की गई छेड़-छाड़ अनुचित है।

राजस्थान के वीरों ने शीश दान देकर महिलाओं ने जौहर करके राजस्थान भारत का महान इतिहास बनाया है। श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के तहसील संयोजक विक्रमसिंह चंपावत भणियाणा के नेतृत्व में सैकड़ों की तादाद में कार्यकर्ताओं ने पुतला जलाकर ज्ञापन सौंपा गया। इस बीच कैप्टन गायड़सिंह, रावलसिंह, मूलसिंह, विजयसिंह दांतल आदि कई लोग उपस्थित थे। जैसलमेर राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के तत्वावधान में सोमवार काे निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला जलाया गया। जिलाध्यक्ष गणपतसिंह नेतसी ने बताया कि राजपूताना के इतिहास से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस मौके पर संभाग उपाध्यक्ष उगमसिंह बैरसियाला, जिलाध्यक्ष गणपतसिंह नेतसी, जिला प्रभारी खीमसिंह सिंहड़ार, नगर अध्यक्ष अरविदसिंह सत्याया, मीडिया प्रभारी लोकेद्रसिंह गजसिंह का गांव, संगठन मंत्री माधुसिंह रामगढ़, जीवनसिंह नग्गा, महेद्रसिंह छायण, ओम बन्ना टाइगर फोर्स के सरंक्षक गोपालसिंह आरण सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...