पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • हनुमान घाटी में रोडवेज बस के पलटने की सूचना देकर जांची अधिकारियों की मुस्तैदी, कलेक्टर ने सचेत रह

हनुमान घाटी में रोडवेज बस के पलटने की सूचना देकर जांची अधिकारियों की मुस्तैदी, कलेक्टर ने सचेत रहने को कहा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जैसेही सूचना मिली कि धरियावद रोड स्थित हनुमान घाटी में शाम को रोडवेज बस पलटी है। पुलिस प्रशासनिक महकमा मौके पर पहुंच गया। लेकिन जब वहां जाकर स्थिति देखी तो पता चला कि यह मॉक ड्रिल है। मॉक ड्रिल का पता चलने के बाद सभी राहत की सांस ली।

पुलिस कंट्रोल रूम से शाम चार बजे अधिकारियों, संबंधित पुलिस अधिकारियों को धरियावद रोड पर हनुमान घाटी में रोडवेज बस पलटने की सूचना दी गई थी। इस सूचना के बाद हड़कंप मच गया था। सूचना मिलने के कुछ ही मिनट में कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए। इसके बाद करीब आधे घंटे में फायर ब्रिगेड, आपदा प्रबंधन, क्यूआरटी, पुलिस, एंबुलेंस समेत सभी महत्वपूर्ण टीमें एवं अधिकारी मौके पर पहुंच गए। मौके पर मौजूद कलेक्टर नेहा गिरि एसपी शिवराज मीणा पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों के मौके पर पहुंचने के समय पर नजर रखे रहे।

देवगढ़एसएचओ सबसे पहले पहुंचे : माॅकड्रिल के तहत करीब चार बजे अधिकारियों को सूचना मिलनी शुरू हुई कि धरियावद रोड स्थित हनुमान घाटी में कोई दुर्घटना हुई है। दुर्घटना की सूचना पर सबसे पहले देवगढ़ एसएचओ रोहित कुमार मौके पर पहुंचे। बाद में जैसे-जैसे सूचना मिली, वैसे-वैसे क्रमशः रोडवेज अधिकारी, रिजर्व पुलिस लाइन जाब्ता, एडीएम हेमेंद्र नागर, तहसीलदार गोपाल मेघवाल, सिटी कंट्रोल रूम जाब्ता, कलेक्ट्रेट आपदा प्रबंधन टीम, फायर ब्रिगेड, पुलिस क्यूआरटी, देवगढ़ एंबुलेंस 108, प्रतापगढ़ मेडिकल टीम, यातायात पुलिस, प्रतापगढ़ डीवाईएसपी, प्रतापगढ़ एसएचओ, मीडियाकर्मी, सीएमएचओ, एंबुलेंस, महिला थाना टीम, एसीईओ रामेश्वर मीना, धरियावद डीवाईएसपी, धमोतर एसएचओ, धोलापानी एसएचओ, एमबीसी रिजर्व जाब्ता, क्रेन, विद्युत विभाग टीम, एसएचओ अरनोद, कुलथाना 108 एंबुलेंस, पीपलखूंट एसएचओ सहित सभी संबंधित अधिकारी टीमें मौके पर पहुंच गई। क्यूआरटी आपदा प्रबंधन दल सभी रेस्क्यू से जुड़े संसाधनों के साथ वहां पहुंचे। इस दौरान रेस्क्यू आॅपरेशन, भीड़ प्रबंधन आदि से जुड़े पूर्वाभ्यास भी किए गए। माॅक ड्रिल के दौरान पुलिस प्रशासन के अधिकारियों, कर्मचारियों को देखकर ग्रामीण भी हैरत में पड़ गए। मौके पर ग्रामीणों की भी भारी भीड़ जमा हो गई। बाद में सच्चाई पता चलने पर सभी ने राहत की सांस ली।

कलेक्टर नेहा गिरि ने कहा कि प्रशासन को हर समय आपात स्थिति के लिए मुस्तैद रहना चाहिए। हालांकि सूचना मिलते ही आधे घंटे के दरमियान फायर ब्रिगेड, आपदा प्रबंधन, क्यूआरटी, पुलिस, एंबुलेंस समेत सभी महत्वपूर्ण टीमें एवं अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे। इसमें थोड़ी बहुत और सुधार की गुंजाइश है।

ऐसी घटनाओं के समय रिस्पांस टाइम सबसे महत्वपूर्ण चीज है। उन्होंने कहा कि माॅक ड्रिल में क्या-क्या खामियां रही हैं, इस पर अधिकारियों को निर्देश दिए है जिससे भविष्य में और बेहतर एक्सरसाइज की जा सके।

प्रतापगढ़। मॉक ड्रिल के तहत रेस्क्यू के लिए पहुंचा पुलिस जाप्ता।

खबरें और भी हैं...