पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए \"मायड़ भाषा मांगे मान\' आंदोलन शुरू

राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए \"मायड़ भाषा मांगे मान\' आंदोलन शुरू

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थानीभाषा की मान्यता के मुद्दे को लेकर राजसमंद जिले के राजस्थानी साहित्यकारों एवं साहित्यिक संस्थाओं ने मायड़ भाषा मांगे मान के नाम से क्रमिक आंदोलन शुरू किया।

राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृति अकादमी बीकानेर के पूर्व सदस्य तथा साकेत साहित्य संस्थान के संचालक नारायणसिंह राव ने बताया कि राजस्थानी संस्कृति, साहित्य के साथ जन्म, मरण एवं परण के गीतों का परम्पराओं का अस्तित्व बनाए रखने के लिए राजस्थानी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करना निहायत जरूरी है। वर्तमान में राजस्थान के सभी 25 सांसद को भाषा का मुद्दा उठाने को लेकर पत्र लिखकर आह्वान किया गया है कि आपां नी तो कुठ एवं आज नी तो कद.. मान्यता मिलेगी। साकेत साहित्य संस्थान एवं राजस्थानी चिंतन परिषद के माध्यम से प्रति मई मायड़ भाषा मांगे मान पत्र लिख कर स्मरण कराया जाएगा।