• Hindi News
  • National
  • अधूरी सड़क पर गड्‌ढों से बढ़ गए हादसे, ग्रामीणों में रोष

अधूरी सड़क पर गड्‌ढों से बढ़ गए हादसे, ग्रामीणों में रोष

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजसमंद/गजपुर | मादड़ीसे आत्मा तक की सड़क पर पग- पग पर गड्ढे होने से वाहनधारियों को धचके खाते हुए गुजरना पड़ता है। पीडब्ल्यूडी विभाग की लापरवाही से यह सड़क राहगीरों के लिए जानलेवा बन चुकी है। रविवार शाम को बाइक चालक गड्ढे में गिर गया। जिससे उसका पैर फ्रैक्चर हो गया। इधर, पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों का कहना हैं कि नोटबंदी से काम अटका हुआ है। सड़क का काम आगामी दो माह में काम पूरा करवा दिया जाएगा।

मादड़ी से आत्मा तक सड़क को चौड़ी कर डामर बिछाने का काम कुछ महीनों पहले ही शुरू हुआ था। पिछले कई महीनों से कार्य बंद पड़ा हुआ हैं। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हो गए है। वहीं कई जगह तो गिट्टी भी बिछा दी थी। लेकिन लम्बे समय से कार्य बंद होने से खस्ताहाल सड़क से वाहन चालकों का निकलना मुश्किल हो गया है। रविवार शाम को पदावली निवासी महेन्द्रसिंह पुत्र जिन्जारसिंह मादड़ी से पादावली अपने घर जा रहा था। तलवा गांव के पास गड्ढे में गिरने से उसका पैर फ्रैक्चर हो गया। जिसको राहगीरों ने अस्पताल पहुंचाया। परिजनों का कहना हैं कि महेंद्रसिंह को अब तक होश नहीं आया। जानलेवा सड़क पर सफर करना वाहन चालकों के लिए किसी खतरे से खाली नहीं है। क्योंकि बारिश से सड़क पर डाली गिट्टी और मिट्टी पानी के साथ बह कर चली गई। साथ ही मार्ग पर मार्बल से भरे ट्रोले निकलते है, जिससे जो भी गड्ढों के साथ बाइक सवारों के लिए मुसीबत बन जाता है। जिसको लेकर ग्रामीणों में विभाग के खिलाफ रोष है।





दो माह में पूरा होगा काम

^नोटबंदी केकारण सड़क निर्माण में समस्या रही है। लेबर को रोज पेमेंट करना पड़ता है। नोटबंदी के कारण पेमेंट की समस्या रहती है। कुछ काम तो पूरा हो चुका है, शेष काम दो माह में पूरा करवा दिया जाएगा। नारायणलालवर्मा, अधिशाषी अभियंता, पीडब्ल्यूडी

गजपुर . मादड़ी से आत्मा जाने वाली खस्ताहाल सड़क।

खबरें और भी हैं...