पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • कस्बे में पेयजल व्यवस्था सुधारने के लिए डाली जाने वाली पाइप लाइन सहन नहीं कर पा रही पानी का दबाव

कस्बे में पेयजल व्यवस्था सुधारने के लिए डाली जाने वाली पाइप लाइन सहन नहीं कर पा रही पानी का दबाव

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
टेस्टिंग में ही लीकेज हो गई पाइप लाइन, व्यर्थ बह रहा है पानी

अनदेखी

भास्करन्यूज | रेवदर

कस्बेमें पेयजल व्यवस्था सुधारने के लिए जलदाय विभाग की ओर से विधायक कोष से बनाई गई सेलवाड़ा रोड तक पेयजल टंकी के टेस्टिंग के लिए बिछाई गई पाइप लाइन जगह-जगह लीकेज हो गई है, जिससे पानी व्यर्थ बह रहा है। इससे पहले पेयजल सप्लाई के लिए विभाग परिसर में ही टंकी बनी हुई थी। जहां से पेयजल सप्लाई हो रही थी, लेकिन अब विभाग परिसर में बनी टंकी पुरानी होने एवं छोटी होने के कारण विधायक कोष से सेलवाड़ा रोड पर बनाई गई टंकी को सेलवाड़ा बांध में ट्यूबवेल खोद कर कस्बे में पेयजल सप्लाई देने की योजना थी, जिसका कार्य अभी शुरू होना है। विभाग की ओर से टंकी को विभाग के अन्य कुओं से भर कर कस्बे में पेयजल सप्लाई के प्रेशर को चेक करने के लिए अन्य पाइप लाइन डाल कर जांच की जा रही है। जांच के लिए बिछाई गई पाइप लाइन पानी के दबाव को सहन नहीं कर पा रही है और टेस्टिंग में ही जगह-जगह से फूट रही है। ऐसे में पानी टंकी तक ही नहीं पहुंच रहा है। पानी के दबाव की जांच के लिए डाली गई पाइप लाइन कमजोर होने के कारण पानी सड़कों पर ही बह रहा है।

रेवदर. सेलवाड़ारोड पर लीकेज पाइप लाइन से व्यर्थ बहता पानी।

तीन माह में कई बार लीकेज हो चुकी है लाइन

जलदायविभाग की ओर से टंकी तक पानी पहुंचाने के लिए डाली गई पाइप लाइन को करीब तीन माह हो चुके हैं, लेकिन तीन माह में ही करीब चार से पांच बार जगह-जगह से पाइप लाइन लीकेज हो रही है। पाइप लाइन पर पानी का दबाव बढ़ने के कारण पानी टंकी तक पहुंच ही नहीं रहा है। विभाग की ओर से एक जगह पर लीकेज ठीक करने के बाद दूसरी अन्य जगहों पर लीकेज शुरू हो जाता है।