• Hindi News
  • National
  • प्रभु के जन्मोत्सव की छाई खुशियां

प्रभु के जन्मोत्सव की छाई खुशियां

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
समीपवर्तीजीरावला गांव में स्थित जीरावला पाश्र्वनाथ भगवान प्रतिष्ठा पंचकल्याण महामहोत्सव को लेकर सोमवार को भी विभिन्न प्रकार के धार्मिक आयोजन हुए। रविवार रात को भक्ति कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें भगवान का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान पांडाल में मौजूद भक्त भाव विभोर होकर झूमते नजर आए। वहीं साथ ही प्रभु जन्म की बधाई, प्रभु का नामकरण पाठशाला गमन का जीवंत मंचन किया गया। बिहार से आए कलाकारों की ओर से जैन संस्कृति और धर्म का जीवंत मंचन कर भक्तों को भाव विभोर कर रहे हैं। प्रतिष्ठा महोत्सव आयोजन में करीब दस हजार से ज्यादा लोग साक्षी बन रहे है। ऐसे में हर जगह भक्ति और भावना का माहौल बन रहा है। महोत्सव में भाग लेने के लिए देश भर से लोग रहे हैं। महोत्सव में पूरे दिन और रात को भी धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। वहीं रात को भक्ति गीत और संगीत का आयोजन किया जा रहा है।

38आचार्यों ने परमात्मा से की प्रार्थना : महोत्सवकी सफलता को लेकर महोत्सव में भाग ले रहे करीब 38 आचार्य गुरुभगवतोंएंव साधु-साध्वियों की ओर से मंत्रोचार मधूर संगीत की धुन के बीच परमात्मा से प्रार्थना की जा रही है। साथ ही परमात्मा से महोत्सव को निर्विघ्न एवं ऐतिहासिक बनाने की कामना की गई। महोत्सव में संगीतकार नरेंद्र वाणी गोता द्वारा रातभर प्रभुभक्ति से ओत प्रोत एवं सुंदर प्रस्तुति देकर महोत्सव में भाग लेने वाले भक्तों को भावविभोर कर दिया। वाराणसी नगरी में आयोजित भक्ति सरीता में हजारों की संख्या में भक्त भाग ले रहे हैं।



-महोत्सव को लेकर रात को हुआ भक्ति कार्यक्रम, प्रभु के जन्म, नामकरण पाठशाला गमन का हुआ जीवंत मंचन

- रातभर चले भक्ति कार्यक्रम में 38 आचार्यों समेत साधु साध्वियों द्वारा सभी देव-देवियों से की प्रार्थना

महोत्सव में जीवंत मंचन में मंत्रमुग्ध हुए भक्त

जीरावलापंचकल्याण महामहोत्सव आयोजन में प्रियवंदा दासी की ओर से प्रभु जन्म बधाई, नामकरण एवं पाठशाला गमन का जीवत मंचन किया गया। इस दौरान पांडाल में मौजूद भक्त मंत्रमुग्ध हो गए। मुंबई से आए तीन सौ से ज्यादा कलाकारों की ओर से प्रभु के जीवन इतिहास पर आधारित कार्यक्रमों का नाटिका द्वारा जीवत मंचन रोजाना किया जा रहा है।

महोत्सवको आज होगा प्रभु का राज्याभिषेक

पंचकल्याणमहामहोत्सव आयोजन को लेकर 31 जनवरी को परमात्मा के मामा-मामी द्वारा मायरा, लगन विधि एवं परमात्मा का राज्याभिषेक का जीवंत मंचन किया जाएगा। साथ ही नव लोकांतिक देवों द्वारा प्रभु को दीक्षा विनती आदि कार्यक्रमों का कलाकारों की ओर से वाराणसी नगरी में जीवंत मंचन किया जाएगा।

रेवदर. जीरावला में आयोजित प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत प्रस्तुतियां देते कलाकार तथा मौजूद लोग। फोटो| भास्कर

खबरें और भी हैं...