पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • तकनीकी खामी से जले मीटर अब मुफ्त बदले जाएंगे

तकनीकी खामी से जले मीटर अब मुफ्त बदले जाएंगे

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिजलीमीटर के तकनीकी खराबी से जलने या खराब होने पर अब उपभोक्ता को मीटर बदलवाने के लिए राशि नहीं देनी पड़ेगी। ऐसे बिजली मीटर को बिजली निगम निशुल्क बदलेगा। इस संबंध में राजस्थान विद्युत नियामक आयोग ने बिजली कंपनियों को आदेश जारी किए हैं।

आदेशों के अनुसार किन परिस्थितियों में मीटर निशुल्क या सशुल्क बदला जाएगा, इस संबंध में निगम के अभियंताओं को निर्देश दिए गए हैं। अभी तक यह हो रहा है कि अधिकांश मीटर जलने या खराब होने पर संबंधित इंजीनियर एवं कर्मचारी उपभोक्ताओं से मीटर की कीमत वसूलते हैं। जबकि मीटर जलने या खराब होने में उपभोक्ताओं की गलती नहीं होकर डिस्कॉम की होती है। डिस्कॉम के एमडी ने भी इंजीनियरों को राजस्थान विद्युत नियामक आयोग के आदेशों की पालना करने के निर्देश दिए हैं। पूर्व में भी इस संबंध में आदेश जारी हो चुके हैं। इसके तहत यदि उपभोक्ता की सर्विस लाइन में कोई गड़बड़ी होती है, तो उसे भी आवश्यकता होने पर निशुल्क बदला जाएगा। हालांकि कई बार ऐसी शिकायतें भी आती हैं कि इसे बदलने के बदले कर्मचारी अपने स्तर भी शुल्क वसूल लिया करते हैं। अब नए निर्देशों के तहत खराब मीटर को बदलने के लिए उपभोक्ता को संबंधित सब डिवीजन में एप्लीकेशन पेश करना होगा। वेरिफिकेशन के बाद मीटर निशुल्क या सशुल्क बदलने का निर्णय होगा। उपभोक्ता ने लोड दर्शा रखा है, उससे अधिक उपयोग होने की स्थिति में मीटर जलता है या शॉर्ट सर्किट होने पर उपभोक्ता को 350 रुपए का शुल्क चुकाना होगा।