पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • न्यायिक कर्मचारी दूसरे दिन भी रहे अवकाश पर, किया प्रदर्शन

न्यायिक कर्मचारी दूसरे दिन भी रहे अवकाश पर, किया प्रदर्शन

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अपनीमांगों को लेकर आंदोलन की राह पर चल रहे न्यायिक कर्मचारी शुक्रवार को दूसरे दिन भी सामूहिक अवकाश पर रहे। ऐसे में अदालतों में कामकाज प्रभावित रहा।

शेट्टी कमीशन की सिफारिशों को लागू करने करने की मांग को लेकर न्यायिक कर्मचारी संघ की ओर से प्रदेशव्यापी आह्वान किया गया है। इसके तहत गत 13 से 19 जून तक न्यायिक कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। इसके बाद भी सरकार की ओर से कोई सकारात्मक पहल नहीं होने पर न्यायिक कर्मचारी गुरुवार से सामूहिक अवकाश पर चले गए। ऐसे में शुक्रवार को भी यह कर्मचारी काम पर नहीं लौटे।

कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। साथ ही कर्मचारियों ने संघ ने मांगें पूरी होने तक सामूहिक अवकाश पर रहने की घोषणा की है। न्यायिक कर्मचारियों के सामूहिक अवकाश पर रहने एडीजे, एसीजेएम, जेएम कोर्ट ग्राम न्यायालयों में काम प्रभावित हो रहा है।

रावतभाटा।राजस्थानउच्च न्यायालय की हाईपावर कमेटी की अनुपालना नहीं होने पर राजस्थान न्यायिक कर्मचारी संघ के आह्वान पर शुक्रवार को रावतभाटा न्यायालय के न्यायिक कर्मचारियों ने न्यायालय के बाहर धरना देकर प्रदर्शन किया। अपनी मांगों की पूर्ति के लिए नारेबाजी की। वहीं वकीलों ने मुकदमों में अगली तारीख पेशी ली। न्यायिक कर्मचारी जब तक मांगे नहीं मानी जाती, तब तक सामूहिक अवकाश पर रहकर कार्य का बहिष्कार करेंगे। धरना देने वालाें में आशुलिपिक महेशकुमार सोनी, रीडर धर्मेंद्रकुमार माथुर, कनिष्ठ लिपिक अजयकुमार, रामकुमार वर्मा, गिरिश चंद लौहार, धर्मेश स्वर्णकार, चतुर्थश्रेणी कर्मचारी रामगोपाल आकोदिया, गोपालसिंह, शिवदयालसिंह शामिल थे।

अभिभाषकसंघ ने दिया समर्थन अभिभाषकसंघ रावतभाटा अध्यक्ष एचएन शर्मा ने बताया कि न्यायिक कर्मचारी संघ चित्तौडगढ़ को पत्र लिखकर आंदोलन का समर्थन किया है। न्यायिक कर्मचारियों के वर्षों से लंबित शेटट्ी पे कमिशन की सिफारिशों को लागू कराने के लिए 20 जुलाई से चल रहे सामूहिक अवकाश का समर्थन किया है। राज्य सरकार, उच्च न्यायालय प्रशासन की हठधर्मिता की निंदा की।

रावतभाटा। एसीजेएम न्यायालय के न्यायिक कर्मचारी सामूहिक अवकाश पर रहे। न्यायालय के बाहर धरना देकर नारेबाजी करते कर्मचारी

रामगंजमंडी। अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते न्यायिक कर्मचारी।

खबरें और भी हैं...