• Hindi News
  • National
  • कैश नहीं मिलने पर रतनपुरा में ग्रामीणों ने किया हाईवे पर प्रदर्शन

कैश नहीं मिलने पर रतनपुरा में ग्रामीणों ने किया हाईवे पर प्रदर्शन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रतनपुरागांव के ग्रामीणों ने बैंक में कैश नहीं मिलने पर विरेाध प्रदर्शन करते हुए हाइवे जाम कर दिया। गांव की भत्तेरी देवी, धर्मा देवी, रोशनी, माली, कमलेश, सुमित्रा, बादो सहित दर्जनों महिलाएं घर के सारे कामकाज छोड़कर सुबह छह बजे ही बैंक पहुंच गई। महिलाओं के अलावा वार्ड पंच मोहरसिंह, विजय कुमार सहित अन्य खाताधारक भी बैंक में से अपने जमा पैसे निकलवाने के लिए पहुंचे। बैंक स्टाफ जब सुबह बैंक खोलने पहुंचा तो काफी संख्या में ग्रामीण बैंक के पास एकत्रित हो गए।

बैंक में पैसे नहीं पहुंचने की जानकारी मिलने पर ग्रामीण आक्रोशित हो गए और बैंक के ताला जड़ दिया। बैंककर्मी बैंक का ताला ही नहीं खोल सके कि ग्रामीणों ने बैंक के ताले के उपर अपना ताला जड़ दिया। बाद में सीपीआई के सचिव कुरड़ाराम दमीवाल, आंगनबाड़ी यूनियन की अध्यक्ष सविता धोलिया, किसानसभा के मंत्री शेरसिंह डांगी, रतन भोजाण के नेतृत्व में चरणसिंह पूनिया, धर्मपाल सहारण, इंद्रसिंह पूनिया, धन्नाराम, नरेश, मनोज, विजय, महावीर, बलवान बागड़ी सहित काफी संख्या में खाताधारक महिला एवं पुरूषों ने बैंक के आगे विरोध प्रदर्शन किया। शाम 3.30 बजे तक किसी भी अधिकारी के ग्रामीणों से वार्ता के लिए नहीं पहुंचने पर ग्रामीणों ने हाईवे 65 पर विरोध प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि रतनपुरा की बीआरजीबी बैंक से करीब एक दर्जन गांवों के 10-12 हजार खाताधारक जुड़े हुए हैं। आंगनबाड़ी यूनियन रतनपुरा गांव के ग्रामीणों की ओर से एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि रतनपुरा के बड़ौदा राजस्थान ग्रामीण बैंक में पिछले आठ दिनों से कैरेंसी नहीं दी जा रही है, जिससे ग्रामीण परेशान हैं।

चार शाखाओं की तालाबंदी हो चुकी

नोटबंदीके बाद ग्रामीण क्षेत्र में स्थित बीआरजीबी शाखाओं की तालाबंदी की जा रही है। ग्रामीणों को पैसा नहीं मिलने पर वे आक्रोशित होकर बैंकों के ताला लगा रहे हैं। अब तक चार शाखाओं की तालाबंदी हो चुकी है। राजगढ़ में स्थित मुख्य ब्रांच की दो बार तालाबंदी हो चुकी है।

सादुलपुर. बैंक में कैश नहीं मिलने पर हाईवे पर विरोध प्रदर्शन करते ग्रामीण।

खबरें और भी हैं...