• Hindi News
  • National
  • परिषद ने सार्वजनिक कुएं और हैंडपंप का ही पट‌्टा किया जारी

परिषद ने सार्वजनिक कुएं और हैंडपंप का ही पट‌्टा किया जारी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजनगरकॉलोनी में प्लाट नंबर 17 के सामने स्थित खसरा नंबर 1015 की सवाई चक भूमि पर बने सार्वजनिक कुएं हैण्डपंप वाले स्थान को परिषद ने प्लाट नंबर 58 दर्शाते हुए पट्टा जारी करने का कारनामा कर दिखाया है। सार्वजनिक कुएं हैण्डपंप पर कब्जा कर एक व्यक्ति ने परिषद से सांठगांठ कर पट्टा बनवा लिया है। परिषद ने विनायक पुत्र हनुमान मीना के नाम से पट्टा जारी किया है।

कॉलोनी के लोगों के अनुसार जिस व्यक्ति के नाम से परिषद द्वारा पट्टा जारी किया गया है इस स्थान पर उक्त व्यक्ति का अतिक्रमण मानते हुए परिषद आयुक्त ने पुलिस इमदाद मिलने पर अतिक्रमण हटाने के लिए शिकायतकर्ता को लिखित सूचना दी थी।

राजनगर निवासी गोविन्द्र प्रसाद गुप्ता द्वारा इस संबंध में सूचना अधिकार अधिनियम के तहत सूचना चाहने पर आयुक्त ने एक सूचना में उक्त स्थान का पट्टा जयनारायण पुत्र मांगीलाल के नाम पर जारी करना बताया तथा राजस्थान संपर्क परिवाद में पट्टा विनायक पुत्र हनुमान मीना के नाम जारी करना दर्शाया है। नगर परिषद ने अपने पत्र क्रमांक 18503 दिनांक 6 फरवरी 17 द्वारा खसरा नंबर 699 (कुआं) पर अतिक्रमण निर्माण की अनुमति जारी नहीं किया जाना बताया है। इसके बाद परिषद ने खसरा नंबर 699 जो कि सवाई चक भूमि है तथा परिवर्तित खसरा नंबर 1015 में स्थित है जिसे परिवर्तित खसरा नंबर 1013 में बताकर नगरीय क्षेत्र में कृषि भूमि से आवासीय प्रयोजन पट्टा जारी कर दिया।

इतना ही नहीं पट्टा पत्रावली में दर्शाए गए साक्षी अस्तित्व में ही नहीं है। साक्षी प्रहलाद मीना पुत्र काशीराम मीना निवासी बिलोपा तथा दिनेश पुत्र पुरुषोत्तम नायक निवासी राजनगर नाम के व्यक्ति दोनों स्थानों पर रहते ही नहीं है। प्लाट नंबर 58 में राजस्व रिकार्ड एवं नक्शे में स्पष्ट रूप से कुआं है। इसके बावजूद नगर परिषद ने सार्वजनिक कुएं हैण्डपंप वाले स्थान का पट्टा जारी कर दिया।

खबरें और भी हैं...