• Hindi News
  • National
  • बीसीसीआई पर ही दबाव क्यों, कहां लागू है कूलिंग पीरिएड

बीसीसीआई पर ही दबाव क्यों, कहां लागू है कूलिंग पीरिएड

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लोढ़ाकमेटी की सिफारिश में 3 साल का कूलिंग पीरिएड वाला प्वाइंट एक ऐसा मुद्दा है जिस पर शायद ही कोई राज्य क्रिकेट संघ सहमत हो। यही कारण है कि बुधवार को जयपुर आए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर भी इस मुद्दे पर खुल कर बोले। उन्होंने कहा, ‘किस खेल संघ या अन्य संस्थाओं में तीन साल का कूलिंग पीरिएड है। कहीं भी नहीं। फिर बीसीसीआई पर ही इतना दबाव क्यों डाला जा रहा है।’ बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा, ‘मुझे न्याय व्यवस्था में पूरा भरोसा है। लोढ़ा कमेटी की 85 प्रतिशत से ज्यादा सिफारिशें हम लागू कर चुके हैं। बोर्ड को लगता है कि लोढ़ा कमेटी की तीन-चार सिफारिशें व्यावहारिक नहीं हैं। इसलिए वे इन्हें लागू करने के पक्ष में नहीं हैं।’ इस पर बात करने के लिए हम कमेटी से पिछले दो माह से समय मांग रहे हैं लेकिन कमेटी समय नहीं दे रही है।

प्लानबी का खुलासा बाद में करेंगे: अगरसुप्रीम कोर्ट बीसीसीआई को रन करने के लिए कोई कमेटी गठित करता है तो आपका प्लान बी क्या है। आप कह चुके हैं कि हमारे पास प्लान बी है। इस बारे में उन्होंने कहा, ‘इसका खुलासा अभी नहीं कर सकते। हां, एक-दो दिन में कुछ बड़ी घोषणा हम जरूर करेंगे।’

बीसीसीआईने क्रिकेट के लिए बहुत काम किया

बीसीसीआईने क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए बहुत काम किया है। आज जूनियर से कई खिलाड़ी ऊपर आए हैं। इसके लिए हमने राहुल द्रविड़ को जूनियर क्रिकेट से जोड़ा। उनकी देखरेख में ही निखर कर आया है करुण नायर, जिसने इंग्लैंड के खिलाफ 303 रन की नाबाद पारी खेली। ऐसे और भी कई खिलाड़ी लाइन में हैं।

एक व्यक्ति के कारण आरसीए निलंबित

आरसीएके निलंबन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सिर्फ और सिर्फ एक व्यक्ति के कारण आरसीए निलंबित है। इस बारे में फैसला आरसीए सदस्यों को ही करना है। जब तक निलंबन खत्म नहीं होगा, आरसीए को अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं मिलेंगे। क्या ललित मोदी के स्थान पर यदि उनके बेटे रुचिर मोदी अध्यक्ष बनते हैं, तो निलंबन खत्म होगा, पूछने पर उन्होंने कहा, जब यह सिचुएशन आएगी तब सोचेंगे। हां, मैं यह मानता हूं कि राजस्थान में क्रिकेट का टैलेंट है और हमने खिलाड़ियों के दरवाजे कभी बंद नहीं किए।

खबरें और भी हैं...